38 जिलों में आज से होंगी किसान रैली, भाजपा नेता बताएंगे नए कृषि कानूनों के फायदे 

नए कृषि कानूनों के फायदों के बारे में किसानों को अवगत कराने के लिए भारतीय जनता पार्टी के केंद्र और राज्य सरकार के मंत्रियों के साथ वरिष्ठ नेता बिहार के सभी 38 जिलों में कल से किसान रैली तथा सभा का आयोजन करेंगे।

पटना: नए कृषि कानूनों के फायदों के बारे में किसानों को अवगत कराने के लिए भारतीय जनता पार्टी के केंद्र और राज्य सरकार के मंत्रियों के साथ वरिष्ठ नेता बिहार के सभी 38 जिलों में कल से किसान रैली तथा सभा का आयोजन करेंगे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में शनिवार को आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि विपक्ष के लोग नए कृषि कानूनों को लेकर किसानोंं को गुमराह कर रहे हैं।

इसलिए पार्टी ने यह तय किया है कि वह किसानोंं के बीच जाकर उन्हें इसकेेे फायदे बताएगी। इसके तहत अटल जयंती 25 दिसंबर तक 13 दिनों में 93 से अधिक बड़ी सभाएं बिहार के अलग-अलग हिस्सों में होंगी। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी 38 जिलों में किसान रैली और सभा के अलावा सभी 243 विधानसभा क्षेत्रों में किसान चौपाल का भी आयोजन होगा।

ये भी पढ़ें : हरियाणा के छोरे ने की ऐसी अनोखी शादी, गांव की गोरी हुई दीवानी

डॉ.जायसवाल ने कहा कि रविवार को पटना जिले के बख्तियारपुर में वह और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद किसान सभा के साथ इसका उद्घाटन करेंगे। उन्होंने कहा कि नए कृषि कानून के लागू होने के बाद बिहार में भी कांट्रेक्ट फार्मिंग के दरवाजे खुलेंगे।

ये भी पढ़ें : पति रहें सावधान! पत्नी पर दे ध्यान, वरना हो सकता ये अंजाम

कांट्रेक्ट फार्मिंग में सिर्फ फसल का कांट्रेक्ट होता है, जमीन का नहीं। यही नहीं, किसानों को अपनी उपज बेचने के लिए भी अधिक विकल्प और अवसर मिलेंगे। भाजपा के वरिष्ठ नेता किसान सभाओं और चौपाल के जरिए किसानों की यही गलतफहमी दूर करेंगे।

Related Articles