फारुख अब्दुल्ला ने कहा- जिस तरह मुस्लिमों को मारा जा रहा, ये वो भारत नहीं जो पहले था

0

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस के संरक्षक और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. फारूक अब्दुल्ला ने मॉब लिंचिंग (भीड़ की हिंसा) पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि आज के हिन्दुतान को पहले की तुलना में बदलने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि भारत में हर धर्म के लोगों के लिए जगह रही है लेकिन अब देश में सांप्रदायिकता बढ़ रही है। आज, देश में मुसलमानों को इस तरह से मार दिया जा रहा है कि बताया नहीं जा सकता। ये लोग पागल कुत्ते की तरह बन गए हैं।

उत्तरी कश्मीर के सीमान्त जिले कुपवाड़ा में एक कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए डॉ। फारूक अब्दुल्ला  ने कहा, कुछ साम्प्रदायिक ताकतें हैं जो नहीं चाहते कि हिंदुस्तान और पाकिस्तान के बीच हालात सुधरें। उन्होंने कहा कि कुछ इसके पीछे कुछ ऐसी ताकते हैं जो घाटी में शांति नहीं चाहती हैं क्योंकि हमारी मौत से उनकी जीविका चलती है। इसी वजह से इन सबकी कीमत हम चुका रहे हैं।

फारुख़ अब्दुल्ला ने कहा कि ‘यह वो भारत नहीं है जो हम सोचते हैं, भारत हर धर्म के लोगों के लिए है फिर चाहे मुस्लिम, ईसाई, हिंदू, बौद्ध, जैन या सिख हो। सभी को यहां बराबर अधिकार हैं लेकिन इसे बदलने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी शक्तियों से बचाने के लिए भगवान ही हमें बचाये।

loading...
शेयर करें