फारूक अब्दुल्ला ने केंद्र सरकार से कहा- चीन की तरह पाकिस्तान से करें बात

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री व नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए कहा कि आज मुझे उनकी बात याद आ गई है कि दोस्त बदले जा सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं। उनका कहना है कि केंद्र सरकार को एक बार चीन की तरह पाकिस्तान से भी बातचीत करनी चाहिए। फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने कहा कि पाकिस्तान में आतंकवाद आज मौजूद है। वो झूठ कहते है कि आतंकवाद खत्म हो चुका है। अगर आतंकवाद खत्म करना चाहते है तो हमे इसक बारे में अपने पड़ोसी देश से इस बारे में बातचीत करनी चाहिए।

फारूक अब्दुल्ला ने सरकार से किया अनुरोध

फारूक अब्दुल्ला ने केंद्र सरकार से अनुरोध करते हुए कहा है कि अपने जिस तरह एलएसी से पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के पीछे हटने को लेकर चीन से बातचीत की थी ठीक वैसे ही पाकिस्तान से बात करके इसका कोई हल निकाले। फारूक अब्दुल्ला से पहले पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने भी केंद्र सरकार से पाकिस्तान से बातचीत करने का अनुरोध किया था। इसके बाद उन्होंने कहा, बिना किसी युद्ध और बंदूक के समाधान हो सकता है। भारत और पाकिस्तान के बीच सिर्फ बातचीत के जरिए सारे मामले का हल सकता है।

ये भी पढ़ें : भीड़ जुटाने से वापस नहीं होते कानून, कमियां बताएं किसान: नरेंद्र सिंह तोमर

महबूबा ने भी किया अनुरोध

महबूबा ने कुपवाड़ा जिले के जिरहामा इलाके का दौरा करने के बाद मीडिया से बातचीत में कहा कि, केंद्र सरकार को इस वार्ता प्रक्रिया में केंद्र शासित प्रदेश के लोगों को भी शामिल करना चाहिए। महबूबा मुफ़्ती आतंकवाद में मारे गए एक पुलिसकर्मी के परिजनों से मिलने के लिए वहां गई थीं। इस दौरान उन्होंने कहा था कि अगर भारत देश चीन से बातचीत कर सकता है तो पाकिस्तान से भी संवाद करें।

ये भी पढ़ें : सलमान खान ने Bigg Boss 14 के विनर का किया ऐलान, जानें किसे मिला ख़िताब

 

Related Articles

Back to top button