फारूक अब्दुल्ला का भड़काऊ बयान, तालिबान को सुशासन देना चाहिए

श्रीनगर: नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने बुधवार को कहा कि उन्हें उम्मीद है कि तालिबान अफगानिस्तान में सुशासन देगा। उन्होंने कहा, “अफगानिस्तान एक अलग देश है। जो लोग (तालिबान) सत्ता में आए हैं, उन्हें देश को स्थिर करना होगा। श्रीनगर के हजरतबल में शेख अब्दुल्ला की 39वीं पुण्यतिथि के मौके पर पत्रकारों से बात करते हुए कहा, मुझे उम्मीद है कि वे न्याय और एक अच्छी सरकार देंगे, मानवता को केंद्र में रखते हुए और इस्लामी सिद्धांतों पर सरकार चलाएंगे।”

Abdullah ने कहा कि तालिबान को सभी देशों के साथ संबंध और दोस्ती बनानी चाहिए। वयोवृद्ध नेता ने कहा कि नेशनल कांफ्रेंस निश्चित रूप से विधानसभा चुनाव लड़ेगी और जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा बहाल करने और विशेष दर्जे के लिए लड़ना जारी रखेगी। अब्दुल्ला ने कहा, “मुझे नहीं पता कि विधानसभा चुनाव कब होंगे, लेकिन नेशनल कांफ्रेंस निश्चित रूप से चुनाव लड़ेगी।”

Abdullah के बयान BJP का पलटवार

Farooq Abdullah के इस बयान पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) भड़क उठी है। BJP नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व डिप्टी सीएम निर्मल सिंह ने फारूक अब्दुल्ला पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि तालिबान महिलाओं और अल्पसंख्यकों पर अत्याचार कर रहा है, लेकिन फारूक अब्दुल्ला उसका ही पक्ष ले रहे हैं। सिंह ने कहा कि फारूक अब्दुल्ला सिर्फ उन्हीं देशों में सेक्युलिरिज्म चाहते हैं, जहां मुस्लिम भारी संख्या में मौजूद है। लेकिन जहां मुसलमान बहुसंख्यक हैं वहां पर इस्लामिक नियम चाहते हैं।

यह भी पढ़ें: 2022 के विधानसभा चुनावों से पहले, BJP ने चुनावी राज्यों के लिए नए प्रभारियों की कि घोषणा

Related Articles