फारूक अब्दुल्ला की संपत्ति कुर्की मामले पर तीखी प्रतिक्रिया

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन (JKCA) घोटाला मामले में नेशनल कांफ्रेंस (NC) पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला की संपत्ति कुर्क किए जाने को लेकर विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रमुख नेताओं ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) के खिलाफ तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

NC के उपाध्यक्ष और फारूक अब्दुल्ला के बेटे उमर अब्दुल्ला ने ईडी के निर्णय की निंदा करते हुए कहा, “उनके पिता को ईडी की ओर से कोई आधिकारिक नोटिस और दस्तावेज प्राप्त नहीं हुए हैं। और संपत्ति की कुर्की संबंधी जानकारी मीडिया के जरिए मिली है। वह स्वयं पर लगे बेबुनियाद आरोपों के खिलाफ अदालत में मुकदमा लड़ेंगे।”

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा, “फारुक अब्दुल्ला की संपत्तियों को कुर्क करना राजनीति बदले की कार्रवाई है। ईडी और राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) का दुरुपयोग करना भारतीय जनता पार्टी (BJP) की हताशा को जाहिर करता है।”

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) नेता मोहम्मद युसूफ तरिगामी ने कहा कि डॉ अब्दुल्ला की संपत्ति को कुर्क किया जाना केंद्र सरकार की अपने खिलाफ देश भर में असंतोष और असहमति को दमित करने की प्रचलित राजनीति का हिस्सा है। यह मामला ऐसे समय सामने आया है जब हाल में जिला विकास परिषदों के चुनाव संपन्न हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि शनिवार को मीडिया में रिपोर्ट आयी थी कि ईडी ने जेकेसीए में कथित वित्तीय अनियमितताएं और इससे जुड़े धन शोधन मामले में कार्रवाई करते हुए डॉ अब्दुल्ला की 11.86 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति कुर्क की है।

यह भी पढ़ें: ‘हाथरस मामले की नैतिक जिम्मेदारी लेकर इस्तीफा दें आदित्यनाथ’

Related Articles