बाप ने अपनी बेटी को किया सैल्यूट (Salute), कहा – नमस्ते मैडम, फोटो वायरल

बाप बेटी यह तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा वायरल हो रही है। हर तरफ इस तस्वीर को लोग सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए नजर आ रहे हैं।

आंध्र प्रदेश: बच्चों को छोटी सी भी उपलब्धि मिलती है या उनकी तरक्की होती है तो सबसे ज्यादा खुशी उनके मां-बाप  को होती है। बच्चों की कामयाबी देख मां-बाप का सिर गर्व से ऊंचा उठ जाता है। लेकिन जब बाप के क्षेत्र में ही बच्चा उससे आगे निकल जाए तो? ऐसा ही कुछ नजारा देखने को मिला है आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) में जहां अपने एक पिता ने सबके सामने अपनी बेटी को सैल्यूट (Salute) किया।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही फोटो

बता दें कि यह तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा वायरल हो रही है। इस फोटो में दिखने वाला शख्स सर्किल इंस्पेक्टर है और सामने डीएसपी की वर्दी में खड़ी महिला उसकी बेटी है।

पिता का काफी सहयोग मिला – डीएसपी

सर्किल इंस्पेक्टर वाई श्याम सुंदर ने अपनी बेटी येंदलुरू जेसी प्रशांति को डीएसपी बनाने में पूरा सहयोग दिया। जब बेटी उनके सामने डीएसपी की वर्दी में आई तो उसके पिता यानि की सर्किल इंस्पेक्टर ने सबके सामने उसे सैल्यूट किया। वहीं डीएसपी बेटी का कहना है कि यहां तक पहुंचने में उनके पिता का काफी सहयोग रहा है।

जब पहली बार ऑन ड्यूटी सामने आए बाप-बेटी

बता दें कि तिरुपति में आंध्र प्रदेश पुलिस की 2021 में पहली ‘पुलिस ड्यूटी मीट’ ऑर्गेनाइज की गई थी। इस मीट में गुंटूर की 2018 बैच की डीएसपी जेसी प्रशांति आई हुईं थी। वहीं तिरुपति के ही पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में उनके पिता इंस्पेपक्टईर श्यामम सुंदर ड्यूटी पर थे।

पिता ने बेटी को बोला ”नमस्ते मैडम”

इसी इवेंट में जब इंस्पेुक्टिर ने सीनियर अफसर के रूप में अपनी बेटी को सामने देखा तो उनका सीना गर्व से चौड़ा हो गया। इंस्पेक्टर ने बिना देरी किए नियम को ध्यान में रखते हे सीनियर अफसर यानी की अपनी बेटी को सैल्यूट (Salute) किया। सैल्यूट करते हुए इंस्पेक्टर ने कहा कि नमस्तेर मैडम।इसका जवाब बेटी से भी मुस्कुराकर दिया।

”यह मेरे लिए गर्व की  बात”

मीडिया से बात करते हुए इंस्पेक्टर श्याेम सुंदर ने कहा कि जैसे ही पुलिस अफसर की वर्दी में मेरी बेटी सामने आई तो मैंने उन्हें सैल्यूट (Salute) किया। इस बात ने मुझे बहुत खुशी दी। मुझे गर्व महसूस हुआ। एक सामान्या व्यक्ति के लिए यह एक असामान्यग बात है लेकिन मेरे लिए नॉर्मल है। मैंने अपनी सर्विस में कई अफसरों को सैल्यूट किया है। वह प्रत्याैशित रूप से मेरे सामने आ गईं तो मैंने सामान्य् ड्यूटी की तरह उन्हें सैल्यूट किया। एक पिता होने के नाते यह मेरे लिए गर्व का पल था।

यह भी पढ़ें: गहलोत ने कहा, ‘किसानों के हित में फैसला लेना चाहिए’

यह भी पढ़ें: ईरान सैकड़ो ड्रोन (Drone) के साथ मंगलवार से दो दिवसीय अभ्यास करेगा

Related Articles

Back to top button