मां-भाई को याद कर रो रही बेटी को पिता ने हमेशा के लिए सुलाया मौत की नींद

यूपी के गाजियाबाद जिले से खबर आ रही है क़ि यहां के खोड़ा कॉलोनी इलाके में एक कलयुगी पिता ने अपनी मासूम बेटी की गला दबा हत्या कर दी। इस 4 साल की मासूम बच्ची का कसूर सिर्फ इतना था

गाजियाबाद : यूपी के गाजियाबाद जिले से खबर आ रही है क़ि यहां के खोड़ा कॉलोनी इलाके में एक कलयुगी पिता ने अपनी मासूम बेटी की गला दबा हत्या कर दी। इस 4 साल की मासूम बच्ची का कसूर सिर्फ इतना था कि वो अपने मां और भाई को याद कर के रो रही थी, पिता इतना क्रूर निकला की उसकी रोते हुए आवाज से क्रोधित होकर उसका गला दबाकर जिंदगी भर के लिए शांत कर दिया। इस घटना की जानकारी लगते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने पिता को गिरफ्तार कर लिया और बच्‍ची के शव को पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

जानकारी के मुताबिक खोड़ा कॉलोनी के नेहरू गार्डन अर्चना एंक्लेव में वासुदेव गुप्‍ता, उसकी पत्‍नी, 2 वर्षीय बेटे और 4 वर्षीय बेटी साथ में रहते है। वासुदेव लोडर चालक की नौकरी करता है। आरोपी का रोजाना पत्नी से झगड़ा हुआ करता था। रोजाना झगड़े से नाराज पत्नी अपने बेटे के साथ 25 दिन पहले अपना घर पर छोड़कर मायके चली गई थी और बेटी को घर पर छोड़ दिया था। घर पर कोई न होने की वजह से वासुदेव बेटी को लोडर पर अपने साथ ले जाता था। कई दिनों से मां को न देख पाने की वजह से मासूम बच्ची उसको याद कर रोती थी। इस कारण वासुदेव बेहद परेशान रहने लगा।

ये भी पढ़े : चीनी इन्वेस्टमेंट और विदेशी सर्वर को लेकर PayTm संसदीय कमेटी के कटघरे में

रोज की तरह गुरुवार देर शाम मासूम बेटी अपनी मां और भाई को याद कर रोने लगी जब वह अपने काम से वापस लौटा तो बेटी फिर रोने लगी। इससे गुस्‍साए पिता ने बिटिया की गला दबा हत्‍या कर दी।

ये भी पढ़े : मौलवियों के विरोध के बाद मुस्लिम धार्मिक संगठन बोला- मंदिर निर्माण के लिए कोई प्रतिबंद नहीं

उसे चुप करने के उद्देश्य से उसने बेटी का गला

खोड़ा थाने के प्रभारी मोहम्मद असलम ने बताया कि आरोपी ने अपने बयान में बताया कि बच्ची को लोडर पर रोज साथ ले जाना पड़ता था, जिससे उसे काफी दिक्क्त होती थी और वह अक्सर वहां रोती थी। उसे चुप करने के उद्देश्य से उसने बेटी का गला पकड़ा था लेकिन उसकी जान चली गई।

Related Articles