अप्रैल से सितम्बर में बढ़ा एफडीआई, 15 प्रतिशत की हुई बढ़ोतरी

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने शनिवार को यहां जारी आंकड़ों में बताया कि वित्त वर्ष 2020-21 की पहली छमाही में कुल विदेशी प्रत्यक्ष निवेश 30 अरब 40 लाख डॉलर दर्ज किया गया है।

नई दिल्ली: चालू वित्त वर्ष में सितंबर तक पहली छमाही में 30 अरब डालर से अधिक का विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) आया है जो पिछले वर्ष की इसी अवधि से 15 प्रतिशत अधिक है।

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने शनिवार को यहां जारी आंकड़ों में बताया कि वित्त वर्ष 2020-21 की पहली छमाही में कुल विदेशी प्रत्यक्ष निवेश 30 अरब 40 लाख डॉलर दर्ज किया गया है। इस अवधि में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश में डॉलर के संदर्भ में 15 प्रतिशत और रुपए के संदर्भ में 23 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है।

आंकड़ों के अनुसार सर्वाधिक एफडीआई अगस्त माह में 17 अरब डॉलर से अधिक रहा है। जुलाई से सितंबर तक की दूसरी तिमाही में कुल एफडीआई 28 अरब डॉलर से अधिक रहा है।

यह भी पढ़ें- कोरोना वैक्सीन’ की ट्रायल प्रक्रिया शुरू, चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग ने लिया जायजा

आंकड़ों के अनुसार पहली छमाही में भारत में एफडीआई करने वाले शीर्ष 10 देशों में मॉरीशस, सिंगापुर, जापान, अमेरिका, नीदरलैंड, जर्मनी, ब्रिटेन, फ्रांस ,केमैन आईलैंड और साइप्रस शामिल है। सर्वाधिक एफडीआई ऑटोमोबाइल, सेवा क्षेत्र, दूरसंचार, निर्माण उद्योग, फार्मा, होटल, व्यापार, सूचना प्रौद्योगिकी और रसायन क्षेत्र में आया है।

आंकड़ों में कहा गया है कि सर्वाधिक एफडीआई आकर्षित करने वाले राज्यों में गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली, कर्नाटक, तेलंगाना, झारखंड, हरियाणा, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल शामिल है।

यह भी पढ़ें- औरंगाबाद में 40 लाख रुपये मूल्य का 77.2 ग्राम ब्राउन शुगर बरामद, चार गिरफ्तार

Related Articles