हिमाचल चुनाव में हो रही जीजा साले की लड़ाई, वीरभद्र सिंह कांग्रेसी लेकिन साला-सरहज भाजपाई

0

शिमला: कहते हैं कि सारी खुदाई एक तरफ और जोरू का भाई एक तरफ, लेकिन हिमाचल प्रदेश विधानसभा का नजारा इसके ठीक विपरीत मिल रहा है। यहां जीजा और साले दोनों एक दूसरे की ही बैंड बजाने में तुले हैं। दरअसल, यहां कांग्रेस के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार वीरभद्र सिंह को उन्ही के साले और सरहज की चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। वीरभद्र सिंह के ससुराल पक्ष का झुकाव भाजपा की ओर ज्यादा है।

मिली जानकारी के अनुसार, पिछले 22 वर्षों से हिमाचल प्रदेश में मुख्यमंत्री पद पर आसीन कांग्रेस के दिग्गज नेता वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह के दोनों भाई वीर विक्रम सेन और पृथ्वी विक्रम सेन भाजपा में शामिल हैं। हालांकि यहां दबदबा जीजा का ही है क्योंकि वीर विक्रम सेन और पृथ्वी विक्रम सेन पहले कांग्रेसी ही थे।

अगली स्लाइड में देखें: वीरभद्र सिंह के सालों ने क्यों छोड़ा था कांग्रेस का साथ

loading...
1
2
3
शेयर करें