हिमाचल चुनाव में हो रही जीजा साले की लड़ाई, वीरभद्र सिंह कांग्रेसी लेकिन साला-सरहज भाजपाई

0

आपको बता दें कि हिमाचल प्रदेश के बीते विधानसभा चुनाव में वीरभद्र सिंह को अपने एक साले का साथ मिला था जबकि दूसरे साले ने चुनाव के ठीक पहले बगावती तेवर अपनाते हुए कांग्रेस से अलग हो गया था और विधान सभा चुनाव में अपनी पत्नी विजय ज्योति सेन को शिमला के कुसुम्पटी निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर मैदान में उतार दिया था। हालांकि इस चुनाव में विक्रम सेन की पत्नी को हार का सामना करना पड़ा था। अब वह भाजपा का हिस्सा बन गए हैं।

वहीं अगर वीरभद्र सिंह के छोटे साले पृथ्वी विक्रम सेन की बात करें तो अपने जीजा वीरभद्र के रवैये के चलते वर्ष 2015 में उन्होंने भी भाजपा का साथ देने का निर्णय ले लिया था। इसका एक बड़ा कारण उनके परिवार को बताया जा रहा है।

आगे पढ़ें: इस चुनाव में बीजेपी के खिलाफ भी हो गए थे वीर विक्रम से
loading...
1
2
3
शेयर करें