अंकों के प्रतिशत के आधार पर तय होंगे विश्व चैंपियनशिप के फाइनलिस्ट

आईसीसी की वर्ष की आखिरी त्रैमासिक बैठक इस सप्ताह सोमवार से शुरू हो रही है। नियमों के अनुसार हर टेस्ट सीरीज में कुल 120 अंक होते हैं। सीरीज में कुल मैचों की संख्या के आधार पर अंक बांटे जाते हैं।

दुबई: वैश्विक महामारी कोरोना के कारण बाधित चल रही विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के दो फाइनलिस्ट का फैसला अंकों के प्रतिशत के आधार पर तय किया जा सकता है।  अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनलिस्ट तय करने के लिए नयी योजना पर काम कर रहा है जिसमें टीम के अंकों के प्रतिशत के आधार पर शीर्ष-2 टीम तय करने पर विचार किया जा रहा है।

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के दो फाइनलिस्ट का फैसला अंकों के प्रतिशत के आधार पर

वैश्विक महामारी कोविड-19 की के कारण रद्द और स्थगित की गई कई टेस्ट सीरीज की वजह से डब्ल्यूटीसी का कार्यक्रम प्रभावित हुआ है। इसको ध्यान में रखते हुए आईसीसी डब्ल्यूटीसी के फाइनलिस्ट तय करने के लिए नयी योजना को अमल में लाने का विचार कर रहा है जिसके तहत विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के दो फाइनलिस्ट का फैसला अंकों के प्रतिशत के आधार पर तय किया जाएगा। इस मामले पर अगले सप्ताह होने वाली मुख्य कार्यकारी समिति की बैठक में मुहर लग सकती है।

सीरीज में कुल मैचों की संख्या के आधार पर अंक बांटे जाते हैं

आईसीसी की वर्ष की आखिरी त्रैमासिक बैठक इस सप्ताह सोमवार से शुरू हो रही है। नियमों के अनुसार हर टेस्ट सीरीज में कुल 120 अंक होते हैं। सीरीज में कुल मैचों की संख्या के आधार पर अंक बांटे जाते हैं। अंकों का प्रतिशत निकालने के लिए कुल अंकों को प्राप्त अंकों से भाग किया जाता है। जैसे अगर किसी टीम ने कुल चार सीरीज खेली और दो सीरीज में क्लीन स्वीप किया, तो उसे कुल 480 में से 240 अंक प्राप्त हुए और उसके अंकों का प्रतिशत 50 फीसदी हुआ।

आईसीसी टेस्ट टीमों के बीच अंकों को बांटने पर भी विचार किया गया। इसके तहत कोरोना की वजह से रद्द हुए टेस्ट मैच को ड्रॉ माना जाए और दोनों टीमों के बीच अंकों को बांट दिए जाए। हालांकि बाद में इस पर सहमति नहीं बन पाई। समिति ने तय किया कि मामले में सबसे कम खराब का विकल्प खोजा जाए।

टेस्ट चैंपियनशिप के लिए न्यूजीलैंड को मिलेगा विकल्प सबसे बेहतरीन

आईसीसी के नियमों के मुताबिक अगर फाइनलिस्ट तय करने के बारे में फैसला लिया जाता है, तो इससे फाइनल की रेस में बनीं टीमों पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा। न्यूजीलैंड के लिए यह विकल्प सबसे बेहतरीन साबित हो सकता है। उसे अपनी दोनों टेस्ट सीरीज पाकिस्तान और वेस्ट इंडीज के खिलाफ अपने ही देश में खेलनी है।

ये  भी पढ़ें : ओलंपिक में भारत को कुश्ती में मिलेंगे चार पदक : बृजभूषण सिंह

न्यूजीलैंड ने अपने देश में पिछले छह टेस्ट मैच जीते हैं और अगर वह पाकिस्तान और वेस्ट इंडीज के खिलाफ क्लीन स्वीप कर 240 अंक हासिल कर ले, तो उसके कुल 420 अंक (कुल 600 में से) 70 फीसदी अंक हो जाएंगे।

ऑस्ट्रेलिया पहले, भारत दूसरे और इंग्लैंड तीसरे स्थान पर

मौजूदा अंक तालिका में भारत 360 अंकों के साथ शीर्ष पर है। वहीं 296 अंकों के साथ ऑस्ट्रेलिया दूसरे और इंग्लैंड 292 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर है। लेकिन अंक प्रतिशत के अनुसार ऑस्ट्रेलिया पहले, भारत दूसरे और इंग्लैंड तीसरे स्थान पर रहेगी।

भारत को अब ऑस्ट्रेलिया में चार टेस्ट और इंग्लैंड से पांच टेस्ट मैचों की घरेलू सीरीज खेलनी है। इंग्लैंड भी श्रीलंका के खिलाफ अपनी स्थगित सीरीज का कार्यक्रम बनाने का प्रयास कर रहा है। एक सदस्य ने दो सेमीफाइनल और फाइनल का सुझाव दिया था लेकिन इंग्लैंड में गर्मियों में इसकी कम संभावना को देखते हुए इसे नकार दिया गया था। 

ये  भी पढ़ें : ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज सीन एबॉट ने कहा, ‘मुझे हारना पसंद नहीं है’

Related Articles

Back to top button