बच्‍चा क्‍यों है कुपोषित जानिए वेब एप्लीकेशन से

download (5)
लखनऊ। यूपी सरकार ने कुपोषण की समस्या से निजात पाने के लिए राज्य पोषण मिशन के तहत एक वेब एप्लीकेशन ‘कुपोषण का दर्पण’ शुरू किया है। इस साफ्टवेयर के माध्यम से कोई भी व्यक्ति अपने बच्चों के सेहतमंद या कुपोषित होने की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकता है।

बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग के प्रमुख सचिव कुमार कमलेश ने यह जानकारी बुधवार को दी है। राज्य पोषण मिशन की वेबसाइट से इस साफ्टवेयर को लिंक कर दिया गया है। इसमें लोगों को अपने बच्चो की उम्र, वजन एवं लिंग की सूचना भरनी होगी। इसके तुरंत बाद ही बच्चों की स्वास्थ्य संबंधी जानकारी कम्प्यूटर स्क्रीन पर उपलब्ध होगी।

सेहतमंद बच्‍चे के वजन की भी होगी जानकारी

प्रमुख सचिव ने बताया कि कमलेश ने बताया कि यह साफ्टेवयर बच्चों में कुपोषण की जानकारी प्राप्त करने तथा उससे निजात पाने में बहुत सहायक होगा। इस साफ्टवेयर के माध्यम से बच्चे का लिंग, उम्र एवं वजन के हिसाब से सेहतमंद या कुपोषित होने की जानकारी प्राप्त होगी। इसके माध्यम से लोगों को सेहतमंद बच्चे के वजन की जानकारी आसानी से मिलेगी।

उम्र के हिसाब से कुपोषित बच्‍चे को क्‍या दे खाने में

साथ ही कुपोषित बच्चों से कुपोषण दूर करने के उपाय भी बताये जायेंगे। इस एप्लीकेशन से यह भी जानकारी मिलेगी कि उम्र के हिसाब से कुपोषित बच्चे को किसी प्रकार का पोषाहार एवं भोजन दिया जाना चाहिए। प्रमुख सचिव ने बताया कि राज्य सरकार का यह प्रयास एक क्रांतिकारी कदम है। यह साफ्टवेयर बच्चों में होने वाले कुपोषण को दूर करने में एक अहम भूमिका निभायेगा। घर बैठे लोग इसका लाभ ले सकेंगे। इस साफ्टवेयर से लोग यह भी जान सकेंगे कि उम्र के हिसाब से सामान्य बच्चों में क्या लक्षण होने चाहिए। इसके अतिरिक्त यह भी पता चलेगा कि बच्चे को कौन सा टीका लगाया जाना है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button