IPL
IPL

Maharashtra के पूर्व गृह मंत्री के उपर FIR दर्ज, कई ठिकानों पर CBI का छापा

CBI के सूत्रों ने बताया कि एजेंसी की एक टीम शुक्रवार रात नागपुर पहुंची थी और शनिवार सुबह से छापेमारी की जा रही है।

नई दिल्ली: सीबीआई ( CBI ) ने 100 करोड़ रुपए की वसूली के आरोपों के मामले में महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर भ्रष्‍टाचार के मामले में एफआईआर दर्ज करने के बाद आज शनिवार को मुंबई, नागपुर के आवास समेत उनके कई ठिकानों पर छापे मार रही है। ये छापेमारी भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर उनके खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद की जा रही है।

CBI के सूत्रों ने बताया कि एजेंसी की एक टीम शुक्रवार रात नागपुर पहुंची थी और शनिवार सुबह से छापेमारी की जा रही है। देशमुख का घर नागपुर के सिविल लाइन्स इलाके में जीपीओ स्कॉयर में है। उन्होंने बताया कि सीबीआई की टीम देशमुख के निर्वाचन क्षेत्र कातोल कस्बे का भी दौरा कर सकती है जो नागपुर से 60 किलोमीटर दूर है। मामला दर्ज करने के बाद, सीबीआई ने मुंबई में कई स्थानों पर छापे मारे। इनमें देशमुख से जुड़े परिसर भी शामिल हैं।

CBI के अधिकारियों ने कहा कि जांच-पड़ताल के दौरान भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के प्रावधानों के तहत देशमुख और अन्य अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू करने के लिए पर्याप्त प्रथम दृष्टया सामग्री मिलीं है।

100 करोड़ रुपए की वसूली

परमबीर सिंह ( Parambir Singh ) ने 25 मार्च को देशमुख के खिलाफ CBI जांच का अनुरोध करते हुए आपराधिक जनहित याचिका दायर की थी, जिसमें उन्होंने दावा किया था कि देशमुख ने निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे समेत अन्य अधिकारियों को बार एवं रेस्तरां से 100 करोड़ रुपए की वसूली करने को कहा था। वहीं, वाजे राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) की जांच का सामने कर रहे हैं।

यह जांच मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास विस्फोटकों से भरी एसयूवी मिलने के मामले से जुड़ी है। सिंह ने शुरुआत में उच्चतम न्यायालय का रुख किया था, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि देशमुख के बारे में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और अन्य वरिष्ठ नेताओं से शिकायत करने के बाद उनका तबादला किया गया।

यह भी पढ़ें: COVID-19: देश में कोरोना से इतने लोगों की गई जान, मौतों का आंकड़ा जानकर हो जाएंगे हैरान

Related Articles

Back to top button