केजीएमयू में लगी भयानक आग, 5 मरीज की मौत, सीएम ने दिए जांच के आदेश

0

लखनऊ| उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित किंग जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय ( केजीएमयू ) के ट्रॉमा सेंटर में शनिवार की शाम भयानक आग लग गई। इस आग के बाद वहां भगदड़ मच गई। मरीज से लेकर उनके परिजन जान बचाने के लिए निकलने लगे। इस भगदड़ में 5 मरीजों की मौत हो गई। कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। उसके बाद वहां भर्ती मरीजों को पास के कई अस्पतालों में शिफ्ट किया गया। केजीएमयू में हुए इस हादसे के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राहत एवं बचाव कार्य युद्ध स्तर पर चलाने और जांच कराने के निर्देश दिए हैं।

केजीएमय

केजीएमयू में लगी भयानक आग में एक मरीज की मौत

जानकारी के मुताबिक आग ट्रॉमा सेंटर की दूसरी और तीसरी मंजिल पर लगी। देखते ही देखते विकराल होकर तीसरे फ्लोर पर मेडिसिन स्टोर तक पहुंच गई। हर तरफ बस धुंआ ही धुंआ नजर आ रहा था। आग की खबर सुनते ही डाक्टर आपरेशन छोड़कर भाग गए। गंभीर मरीजों को उनके परिजन स्ट्रेचर लादकर भागने लगे।अस्पताल में जिस वक्त आग लगी उस वक्त ट्रॉमा सेंटर में करीब 300 मरीज भर्ती थे। इनमें से 37 मरीज वेंटिलेटर पर थे।

इसी बीच 5 मरीजों की मौत हो गई। दर्जन भर दमकल की गाड़ियों ने बड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। केजीएमयू में हुए इस बड़े हादसे के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आग लगने की घटना का तत्काल संज्ञान लेते हुए राहत एवं बचाव कार्य युद्ध स्तर पर चलाने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने मंडलायुक्त को घटना की जांच कर तीन दिन में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं।  योगी ने संस्कृतनिष्ठ हिंदी में कहा, “इस घटना के लिए दोषी व्यक्तियों का उत्तरदायित्व निर्धारित किया जाए, जिससे उनके विरुद्ध कार्रवाई की जा सके। साथ ही, इस प्रकार की घटना की भविष्य में पुनरावृत्ति न हो, इसके लिए भी संस्तुतियां दी जाएं।”

अस्पताल सूत्रों के मुताबिक, सेंटर के ज्यादातर मरीजों को लारी और शताब्दी अस्पताल में शिफ्ट किया गया। इस दौरान मरीजों और तिमादारों का बुरा हाल था। वो इधर उधर भागते रहे। कुछ मरीज गंभीर हालात में थे जिन्हें ले भी नहीं जय जा सकता था ।

loading...
शेयर करें