वाराणसी में पहला एपीडा कार्यालय खुला, कृषि निर्यात के लिए बना विशेष केंद्र 

किसानों और कृषि उद्यमियों को वैश्विक बाजार से जोड़ने के लिए उत्तर प्रदेश के वाराणसी में कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण(एपीडा) का गुरुवार को कार्यालय खोला गया है।

वाराणसी: किसानों और कृषि उद्यमियों को वैश्विक बाजार से जोड़ने के लिए उत्तर प्रदेश के वाराणसी में कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण(एपीडा) का गुरुवार को कार्यालय खोला गया है। एपीडा अध्यक्ष एम अंगामुथु ने जिला मुख्यालय के पास स्थित इस कार्यालय का उद्घाटन किया।

उन्होंने कहा कि वाराणसी क्षेत्र से कृषि उत्पाद के निर्यात की अपार संभावनाओं के मद्देनज़र कार्यालय खोला गया है। प्रयास है कि वाराणसी निर्यात का एक विशेष केंद्र बने। इसके लिए हर स्तर पर प्रयास तेज कर दिये गये हैं। फल एवं सब्जियों के मामले में सफलता मिली है। चावल को वैश्विक बाजार में लाया गया है। इन गतिविधियों को तेजी से आगे बढ़ाने के लिए एपीडा ने जिला मुख्यालय के पास बाग़वानी परिसर में अपना परियोजना कार्यालय खोला है।

ये भी पढ़ें : एशिया के सबसे बड़े एयरपोर्ट की स्थापना, नोएडा बनेगा ब्रांड 

उद्घाटन में मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल, वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, सचिव एपीडा डॉ0 सुधांशु, एजीएम एपीडा डॉ0 सीबी सिंह और बाग़वानी विभाग, कृषि विभाग आदि के अन्य अधिकारी मौजूद थे।

ये भी पढ़ें : गहलोत सरकार के पुरे हुए दो साल, कटारिया ने पूछे कई सवाल 

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि एपीडा का उत्तर भारत में कोई कार्यालय नहीं था। जिसके कारण यूपी में स्थित निर्यातक एपीडा के मुख्यालय और अन्य क्षेत्रीय कार्यालयों के साथ काम कर रहे थे। एपीडा कार्यालय खोले जाने से किसानों और कृषि उद्यमियों के लिए अपनी उपज को वैश्विक बाजार में भेजने का एक विशेष अवसर मिलेगा। कोविड महामारी के दौरान, एपीडा और स्थानीय प्रशासन के प्रयासों के साथ, यहां के किसानों ने विभिन्न खेपों को दुनिया के विभिन्न हिस्सों में कृषि उत्पाद भेजने में कामयाब रहे।

Related Articles