मध्य प्रदेश के 1,171 गांव में बाढ़, लखनऊ और बनारस से NDRF की टीमें रवाना

मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले में भारी बारिश, सिंध नदी पर बने अटल सागर बांध में पानी बढ़ने के कारण 10 गेट खोले गए, 1,171 गांव में बाढ़

भोपाल: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में प्राकृतिक के कहर से 1,171 गांव बाढ़ और बारिश से प्रभावित हुए हैं। NDRF की 3 टीमें राहत एंव बचाव कार्य में लगी हुई हैं। ग्वालियर में 1 और शिवपुरी (Shivpuri) में 2 टीमें बचाव कार्य में जुटी हैं। लखनऊ (Lucknow) और बनारस (Banaras) से एक-एक NDRF की टीमें मध्य प्रदेश के लिए रवाना हो गई हैं। शिवपुरी जिले में सिंध नदी पर बने अटल सागर (Atal Sagar) बांध में पानी बढ़ने के कारण बांध के 10 गेट खोल दिए गए है।

MP के इन जिलों में बाढ़

शिवपुरी, श्योपुर, दतिया, ग्वालियर में बाढ़-बचाव कार्य के लिए 4 कॉलम आर्मी की सहायता के आदेश जारी किए गए हैं। 2 आर्मी कॉलम झांसी/ग्वालियर से ग्वालियर और दतिया जिले के लिए और 2 आर्मी कॉलम बबीना (UP) से शिवपुरी, श्योपुर के लिए तैनात किए जा रहे हैं। ये बचाव कार्य में मदद करेंगे।

शिवपुरी जिले में 7 SDERF की टीमों ने बचाव कार्य किया है। श्योपुर जिले में 5 SDERF, दतिया जिले में 2 SDRF और ग्वालियर में 3 SDERF की टीमें तैनात की गईं है। NDRF, SDERF, वायुसेना, स्थानीय होमगार्ड और पुलिस के सहयोग से पिछले 24 घंटों में लगभग 1600 लोगों को बचाया गया है।

रेस्क्यू ऑपरेशन में बाधा

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने बताया कि एयरफोर्स के हेलीकॉप्टर भी खराब मौसम के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन नहीं चला पा रहे हैं। हमने आर्मी के 4 कॉलम मांगे हैं। हम लोगों ने अब तक 1200 लोगों को बचाया है। हमारे 2 मंत्री शिवपुरी में ही हैं। वे कंट्रोल रूम बनाकर वहां से देखरेख कर रहे हैं। उन्होंने कहा कई जिलों में भारी बारिश हुई है। शिवपुरी भारी बारिश का केंद्र बना हुआ है। लगभग 1100 गांव प्रभावित हैं, 200 गांव ज्यादा प्रभावित हैं और 22 गांव घिरे हुए हैं। कल हमने एयरफोर्स के हेलीकॉप्टर बुला लिए थे। वे लगातार लोगों को बचाने का प्रयास कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि मध्य प्रदेश में विशेष तौर पर उत्तरी मध्य प्रदेश में बाढ़ की स्थिति गंभीर है। शिवपुरी, श्योपुर कलां, दतिया, ग्वालियर, गुना, भिंड और मुरैना इन जिलों के 1225 गांव अभी प्रभावित हैं। उन्होंने बताया कि SDRF, NDRF, आर्मी और BSF सभी ने मिलकर लगभग 5950 लोगों को सुरक्षित निकालने में सफलता प्राप्त की है। अभी तक की जानकारी के अनुसार 1950 लोगों को और निकालने के प्रयास जारी हैं।

 

प्रधानमंत्री ने दिया मदद का आश्वासन

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैंने प्रधानमंत्री मोदी से चर्चा की और स्थिति से अवगत कराया। उन्होंने बहुत संवेदनशीलता के साथ कहा है कि चिंता न करें, भारत सरकार हर संभव मदद करेगी। मैंने उनसे आर्मी के बारे में भी बात की। केवल NDRF और SDRF से काम नहीं चल रहा है।

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने ग्वालियर में बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया। नरोत्तम मिश्रा ने कहा, हमारी प्राथमिकता अभी लोगों को सुरक्षित निकालना है। नदी किनारे के गांव प्रभावित हुए हैं, प्रशासन हर जगह मौजूद है और रेस्क्यू लगातार चल रहा है।

 

नदियों का जलस्तर बढ़ने से बाढ़

गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने MP में आए बाढ़ का जायजा लेते हुए कहा मध्यप्रदेश के कुछ भागों में तेज बारिश व नदियों का जलस्तर बढ़ने से आयी बाढ़ के संबंध में मैंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बात कर स्थिति की जानकारी ली। केंद्र की ओर से प्रदेश को राहत कार्यों के लिए पूरी मदद दी जा रही।

यह भी पढ़ेCorona Update: देश में पिछले 24 घंटों में COVID-19 के 42,625 नए केस, जानिए राज्य में आंकड़े

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles