गुजरात में बाढ़ से दूध पर आई आफत, अमूल को हुआ काफी नुकसान

0

अहमदाबाद। समूचे भारत में बाढ़ का कहर जारी है। असम से लेकर गुजरात तक सभी जगह बाढ़ अपना रौद्र रूप दिखा रही है। सबसे खराब हालात गुजरात के हैं जहां 100 से अधिक लोगों की मौत हो चुक‍ी है।

गुजरात में बाढ़ से जनजीवन अस्‍तव्‍यस्‍त

गुजरात का बनासकांठा सबसे अधिक प्रभावित हुआ है। वहां अकेले 50 से ज्‍यादा लोग जिंदगी की जंग हार चुके हैं। वहीं यहां के दूध व्‍यवसाय को भी काफी चोट पहुंची है। खबर मिली है कि पिछले एक हफ्ते में ही अमूल डेरी को करीब 70 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। देश की सबसे बड़ी बनास डेयरी में दूध का कलेक्शन आम दिनों के मुकाबले एक चौथाई रह गया है।

यह भी पढ़ें: पूरे भारत में बाढ़ का कहर जारी, गुजरात में 100 से ज्‍यादा की मौत

 

अमूल

सिर्फ 10 लाख लीटर दूध का हो रहा उत्‍पादन

गुजरात के उत्तरी इलाकों में आई बाढ़ ने राज्य के डेयरी उद्योग को भारी नुकसान पहुंचाया है। अमूल से जुड़ी 18 कोऑपरेटिव डेयरीज़ में सबसे बड़ी डेयरी बाढ़ प्रभावित बनासकांठा इलाके में है। इस डेयरी में हर रोज़ 40 लाख लीटर दूध इकट्ठा होता रहा है, लेकिन बाढ़ की वजह से हर रोज़ सिर्फ 10 लाख लीटर दूध ही डेयरी तक पहुंच पा रहा है।

यह भी पढ़ें:  गुजरात के बाद आज असम के लिए रवाना हुए पीएम मोदी, हवाई यात्रा के…

दूध की बनी चीजों का भी उत्‍पादन हुआ कम

बाढ़ की वजह से सड़कों को इतना नुकसान हुआ है कि दूर दराज गांवों के लोगों के लिए डेयरी तक दूध पहुंचाना मुश्किल हो गया है। दूध कलेक्शन में कमी के कारण दूध से बनने वाली चीजों के उत्पादन में भी भारी गिरावट आई है।

यह भी पढ़ें: अपने गुजरात के लोगों को बाढ़ से बचाने खुद मोदी चल पड़े, दिल्ली से…

बड़ी तादाद में हुईं गाय-भैंसों की मौत

अकेले अमूल फेडरेशन को ही इस बाढ़ की वजह से 70 करोड रुपये का नुकसान हुआ है। बाढ़ की वजह से बड़ी तादाद में गाय-भैंसों की मौत भी हुई है. जिसके चलते वाले दिनों में भी दूध कलेक्शन में सुधार होना आसान नहीं होगा। दूध की इस किल्लत का खामियाजा किसानों के साथ ही साथ उपभोक्ताओं को भी उठाना पड़ सकता है।

loading...
शेयर करें