ठंड में पहली बार नेपाली पर्वतारोहियों ने K2 पहुंचकर रचा इतिहास

नेपाली पर्वतारोहियों ने सर्दियों के मौसम में पहली बार दुनिया के दूसरे सबसे ऊंचे पर्वत शिखर के2 (K2) पर पहुंचकर इतिहास रच दिया है

काठमांडू: नेपाली पर्वतारोहियों ने सर्दियों के मौसम में पहली बार दुनिया के दूसरे सबसे ऊंचे पर्वत शिखर के2 (K2) पर पहुंचकर इतिहास रच दिया है। इस अभियान को अयोजित करने वाली कंपनी ने यह जानकारी दी।

सेवन समिट ट्रेक्स कंपनी ने शनिवार शाम ट्वीट कर कहा, “हमने यह कर दिखाया, यकीन कीजिए हमने इसे किया – शिखर तक की यात्रा पहले कभी नहीं की गई। काराकोरम का ‘सेवेज माउंटेन’ को सबसे खतरनाक मौसम में सदिर्यो में फतह किया गया। नेपाली पर्वतारोही आखिरकार पर्वत शिखर के2 (छोगोरी 8,611 मी) पर स्थानीय समयानुसार, दोपहर 5 बजे पहुंचे।”

यह भी पढ़ेसरकार के नाम हुई जौहर यूनिवर्सिटी (Johar university)

शिखर पर पहुंचने वाली पहली टीम

समाचार एजेंसी सिन्हुआ से बात करते हुए, पाकिस्तान के अल्पाइन क्लब के सेकट्रेरी जनरल करार हैदरी ने कहा कि 10 सदस्यीय नेपाली टीम सर्दियों में 8,611 मीटर लंबी शिखर पर पहुंचने वाली पहली टीम है।

उन्होंने कहा कि पांच महिलाओं सहित कुल 48 पर्वतारोही 29 दिसंबर, 2020 को अभियान को अंजाम देने के लिए पहाड़ के बेस कैंप पर पहुंचे, जिनमें से पांच घायल हो गए और कई अन्य लोग चोटी पर बहुत खराब मौसम के कारण वापस लौट आए।

के2 चीन-पाकिस्तान सीमा पर उत्तरी पाकिस्तान के गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र और चीन के शिंजियांग के टैक्सकोर्गन ताजिक ऑटोनोमस काउंटी में दफदर टाउनशिप के बीच स्थित है।

यह भी पढ़ेHappy Birthday रसिका दुग्‍गल, जानें कैसे शुरू हुआ कालीन भैया की बीवी का फ़िल्मी सफर

Related Articles