Pakistan के इतिहास में पहली बार फर्स्ट अटैम्प्ट में हिंदू लड़की प्रशासनिक सेवा के लिए चुनी गई

पाकिस्तान के इतिहास में पहली बार कोई हिंदू लड़की मुल्क के सबसे मुश्किल एग्जाम को पास करने में कामयाब हो गई है

पाकिस्तान: पाकिस्तान में एक एग्जाम सबसे मुश्किल माना जाता है जिसका नाम है सेंट्रल सुपीरियर सर्विसेस यानि CSS है इसे आप ऐसे भी समझ सकते है जैसे भारत के सिविल सर्विसेस एग्जाम की तरह ये भी वहां का एक मुश्किल एग्जाम होता है। पाकिस्तान के इतिहास में पहली बार कोई हिंदू लड़की मुल्क के सबसे मुश्किल एग्जाम को पास करने में कामयाब हो गई है। 27 साल की डॉक्टर सना रामचंद गुलवानी ने CSS की परीक्षा को मई में ही क्लियर कर लिया और सबसे खास बात यह रही की उन्होंने इसे पहले अटैम्प्ट में ही क्रैक कर लिया।

जाने सना ने क्या कहा अपने इस CSS की परीक्षा की सफलता को लेकर

सना ने मीडिया से रुबारु होने के दौरान कही ये बात- “मैं बहुत खुश हूं। यह मेरा पहला प्रयास था और जो मैं चाहती थी, वो मैंने हासिल कर लिया है। सना कहती हैं कि उन्होंने इस एग्जाम को क्लियर करने की ठान ली थी और इसके लिए शुरू से काफी मेहनत की। सना के मुताबिक, उनके पैरेंट्स नहीं चाहते थे कि वो एडमिनिस्ट्रेशन में जाएं। पैरेंट्स का सपना उन्हें मेडिकल प्रोफेशन में ही देखने का था। खास बात यह है कि उन्होंने दोनों ही टारगेट पूरे किए।

जाने उनके शिक्षा को लेकर कुछ बातें

मेडिकल प्रोफेशनल होने के साथ अब एडमिनिस्ट्रेशन का भी हिस्सा बनने जा रही हैं। पांच साल पहले उन्होंने शहीद मोहतरमा बेनजीर भुट्टो मेडिकल यूनिवर्सिटी से बैचलर ऑफ मेडिसिन में ग्रेजुएशन किया था। इसके बाद ही वो सर्जन भी हैं। पाकिस्तान में ये दोनों ही कोर्स साथ होते हैं। यूरोलॉजी में उनके पास मास्टर डिग्री है। इसके बाद वो फेडरल पब्लिक सर्विस कमीशन की तैयारी में जुट गईं।

 

यह भी पढ़ें:मौत से पहले महंत नरेंद्र गिरी ने रिकॉर्ड किया वीडियो, जांच जारी

Related Articles