120 साल में दूसरी बार फरवरी का महीना सबसे गर्म, क्या है तापमान बढ़ोतरी की वजह? 

इस साल ठंड़ी कम पड़ने से राहत तो मिली पर गर्मी ने चिंता का अहसास करा दिया है। मौसम विभाग के मुताबिक साल 1901 में सबसे अधिक गर्मी पड़ी थी। अब साल 2021 में यह दूसरा मौका है जब फरवरी का महीना सबसे गर्मी रहा।

नई दिल्ली: इस साल ठंड़ी कम पड़ने से राहत तो मिली पर गर्मी ने चिंता का अहसास करा दिया है। मौसम विभाग के मुताबिक साल 1901 में सबसे अधिक गर्मी पड़ी थी। अब साल 2021 में यह दूसरा मौका है जब फरवरी का महीना सबसे गर्मी रहा। फरवरी में औसत अधिकतम तापमान 27.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इससे पहले 1901 में फरवरी में इतना तापमान दर्ज किया गया था। दिल्ली के मौसम विज्ञान केंद्र के अधिकारी डॉ. कुलदीप श्रीवास्तव का कहना है कि रविवार को अधिकतम 32.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

क्या है तापमान में बढ़ोतरी की वजह? 

न्यूनतम तापमान 15.6 डिग्री सेल्सियस रहा, जो इस मौसम के तापमान से तीन डिग्री अधिक है। पूरे फरवरी की बात करें तो अधिकतम औसत तापमान 27.9 डिग्री रहा। हालांकि, इससे पहले वर्ष 1901 में भी फरवरी महीने का औसत तापमान 27.9 डिग्री दर्ज किया गया था। मौसम जानकारों के मुताबिक वेस्टर्न डिस्टर्बेंस (Western Disturbance) में अगर कमी आती है तो तापमान में बढ़ोतरी देखी जाती है।

इस बार वेस्टर्न डिस्टर्बेंस की कमी से तापमान में बढ़ोतरी की वजह देखी जा रही है। इस बार अगर जानकारी के हिसाब से देखा जाए तो जनवरी में सिर्फ एक बार वेस्टर्न डिस्टर्बेंस देखा गया तो फरवरी में भी सिर्फ एक बार ही वेस्टर्न डिस्टर्बेंस देखा गया। इसमे दिन के वक़्त आसमान साफ और तापमान ज़्यादा रहता है तो वही रात के वक़्त तापमान कम हो जाता है।

यह भी पढ़े:  आम जनता पर महंगाई की मार, फिर बढ़े रसोई गैस सिलेंडर के दाम

Western Disturbance क्या है?

आप सोच रहे होंगे की वेस्टर्न डिस्टर्बेंस (Western Disturbance) जिसका यहां बार बार प्रयोग हो रहा हैं। वह क्या है? वेस्टर्न डिस्टर्बेंस (Western Disturbance) यानी पश्चिमी विक्षोभ  भारतीय उपमहाद्वीप के उत्तरी इलाकों में सर्दियों के मौसम में आने वाले तूफान को कहते है। ऐसे तूफान जो वायुमंडल की ऊँची तहों में भूमध्य सागर, अन्ध महासागर और कुछ हद तक कैस्पियन सागर से नमी लाकर उसे अचानक वर्षा और बर्फ के रुप में उत्तर भारत, पाकिस्तान व नेपाल पर गिरा देता है। जिससे मौसम पर प्रभाव पड़ता है।

यह भी पढ़े:  बड़े विवादों में फंसी हॉलीवुड अभिनेत्री, इस कारण फिल्म से निकाला गया बाहर

Related Articles