फ्रांस और अर्मेनिया के विदेश मंत्रियों ने नागोर्नो-काराबाख में संघर्ष विराम लागू करने पर की चर्चा

येरेवन: अर्मेनिया के विदेश मंत्री ज़ोहराब म्नात्सक्यानन तथा फ्रांस के विदेश मंत्री जीन युवेस ली ड्रायन नागोर्नो-काराबाख की स्थिति को लेकर बात की। अर्मेनिया के विदेश मंत्रालय ने रविवार को एक बयान जारी कर यह जानकारी दी। मंत्रालय ने बताया कि दोनों नेताओं के बीच टेलीफोन पर हुई यह बात नागोर्नो-काराबाख में संघर्ष विराम लागू करने को लेकर हुयी।

नागोर्नो-काराबाख की स्थिति
नागोर्नो-काराबाख की स्थिति

मंत्रालय ने कहा, “म्नात्सक्यानन नागोर्नो- काराबाख में संघर्ष विराम को लागू करने को लेकर व्यक्तिगत तौर पर प्रयास करने के लिए फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुए मैक्रों की प्रशंसा की। दोनों नेताओं की यह वार्ता अजेरबैजान की सेना तथा राजनीतिक नेतृत्व द्वारा अपने दायित्वों का निर्वहन करने से इनकार करने तथा नागोर्नो-काराबाख के खिलाफ आक्रमण जारी करने की घोषणा के मद्देनजर हुयी।”

इसे भी पढ़े: मास्को में अभी तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 6,000 के पार

Related Articles