टोक्यो में क्वाड समूह की बैठक का आगाज, चीन ने दिया ‘मिनी नाटो’ करार

नई दिल्लीः जापान की राजधानी टोक्यो में क्वाड समूह की बैठक का आगाज होने जा रहा है। इस बैठक में भारत, अमेरिका, आस्ट्रेलिया और जापन के विदेश मंत्री शिरकत करेंगे।

मंगलवार को टोक्यो में शुरू होने वाली इस बैठक में क्वाड समूह के सदस्य देश भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर, अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो, ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री मेराइज पायने और जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी मंच साझा करेंगे। इस बैठक के दौरान इंडो-पैसेफिक क्षेत्र में चीन के बढ़ते दबदबे को भी रोकने की कारगार रणनीति को आकार दिया जाएगा।

वहीं क्वाड समूह की बैठक के ठीक पहले चीन बौखला गया है। चीन ने क्‍वॉड की बैठक को ‘षडयंत्रकारियों का विशेष दल’, चीन के खिलाफ अग्रिम मोर्चा और ‘मिनी नाटो’ करार दिया है। चीन ने कहा कि यह कोल्‍ड वॉर के समय की मानसिकता है जिसका नेतृत्‍व अमेरिका कर रहा है।

जाहिर है चीन को काउंटर करने के लिए बने क्‍वॉड समूह के सदस्य देशों के साथ ड्रैगन का तनाव बढ़ता जा रहा है और चीन के इन बयानों ने उसके इरादों को साफ कर दिया है। क्‍वॉड की इस बैठक और उसके परिणामों पर चीन की पूरी नजर रहेगी।

गौरतलब है कि क्वाड समूह (द क्वॉड्रिलैटरल सिक्‍यॉरिटी डायलॉग) की शुरुआत साल 2007 में हुई थी। वहीं कोरोना महामारी के बाद क्वाड समूह ने मार्च में वर्चुअल बैठक की थी।

Related Articles