पूर्व बसपा एमएलसी के घर ईडी की छापेमारी, सीबीआई भी कर रही है जांच

पूर्व एमएलसी इकबाल
पूर्व एमएलसी इकबाल

सहारनपुर: उत्तर प्रदेश में सहारनपुर के बहुचर्चित खनन कारोबारी और बसपा के पूर्व एमएलसी इकबाल उर्फ बाला के ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने करीब 18 घंटों तक छापेमारी की। इकबाल के खिलाफ सीबीआई और ईडी पहले से जांच कर रही है। दोनो एजेंसियों की टीमे इकबाल के जिले के थाना एवं कस्बा मिर्जापुर स्थित आवास और अन्य ठिकानों के साथ-साथ उसकी विभिन्न फर्मों में हिस्सेदार रहे सौरभ मुकुंद के यहां छापेमारी कर चुके है।

हाथरस मामले में इकबाल पर आरोप लगे थे कि उनकी ओर से भीम आर्मी जैसे संगठनों को आर्थिक मदद मिल रही है। ईडी के दो दल बुधवार को सहारनपुर पहुंचे जिनमें एक दल मिर्जापुर में इकबाल का पैतृक मकान और ग्लोकल यूनिवर्सिटी की ओर निकल गया। जबकि दूसरे दल ने इकबाल की फर्म में पार्टनर सौरभ मुकुंद के सहारनपुर नगर में साउथ सिटी स्थित आवास पर छापेमारी की।

गुरूवार तड़के तक चली छापेमारी में स्थानीय अधिकारियों और मीडिया दोनो को दूर रखा गया। हालांकि एसएसपी डा. एस चनप्पा उसी दौरान मिर्जापुर थाने पर गए थे लेकिन उनका छापेमारी से कोई लेना-देना नहीं था। वह इसी थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मां शाकुंबरी देवी मंदिर और वहां लगने वाले मेले आदि की व्यवस्था के संबंध में गए थे।
विश्वसनीय सूत्रों के मुताबिक इकबाल को ईडी की छापेमारी की भनक मिल गयी थी जिसके चलते वह परिवार समेत अपने आवास पर नहीं मिले।

सूत्रों के मुताबिक इकबाल या उसके परिवार के सदस्यों ने छापेमारी के दौरान ईडी को कोई सहयोग नहीं किया। ईडी की टीम को अलमारियों और तिजौरियों पर लगे ताले तोड़ने पडे या फिर मिस्त्रियों के जरिए ताली बनवाकर खुलवाने पडे। ईडी दल को काफी महत्वपूर्ण दस्तावेज हाथ लगने की सूचनाएं है। तिजौरी में भारी मात्रा में जेवरात मिले है।

 

ये भी पढ़ें- चीन के चंगुल में फंसा पाकिस्तान, ड्रैगन ने कराची के दो द्वीपों पर जमाया कब्जा

Related Articles