पूर्व क्रिकेटर युवराज सिंह ने किया ऐसा जुर्म की हुए गिरफ्तार, जमानत पर बाहर

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट सुपर स्टार युवराज सिंह पर अपने साथी क्रिकेटर युजवेंद्र चहल से जातिवादी टिप्पणी करने का आरोप लगा है। अपने साथी से जातिवादी टिप्पणी करने के मामले में हरियाणा में हांसी पुलिस ने युवराज को गिरफ्तार कर लिया और अंतरिम जमानत पर रिहा कर दिया।

युवराज सिंह पर इंस्टाग्राम पर एक ऑनलाइन लाइव इवेंट के दौरान साथी खिलाड़ी के संबंध में जातिगत संदर्भ देने का आरोप लगाया गया था। प्राथमिकी कथित तौर पर हांसी के वकील और कार्यकर्ता रजत कलसन ने आईपीसी और एससी/एसटी एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत दर्ज की थी।

एसपी ने कहा कि युवराज सिंह

पूर्व क्रिकेटर अदालत के निर्देश के अनुसार जांच में शामिल हुए, मीडिया को हांसी एसपी नितिका गहलौत ने सूचित किया। एसपी ने कहा कि युवराज सिंह को अंतरिम जमानत पर गिरफ्तार करने के बाद रिहा कर दिया गया। पुलिस ने कथित तौर पर उसका फोन अपने कब्जे में ले लिया है।

इन धाराओं में मुकदमा

पंजाब और हरियाणा के खबरों के अनुसार, युवराज पर धारा 153A (धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, भाषा, आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना और सद्भाव बनाए रखने के लिए प्रतिकूल कार्य करना) और धारा के तहत मामला दर्ज किया गया था। आईपीसी की धारा 153बी (आरोप, राष्ट्रीय एकता के लिए हानिकारक अभिकथन), साथ ही अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (रोकथाम और अत्याचार) अधिनियम की धारा ३(1)(यू) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक युवराज ने एफआईआर से बचने के लिए पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। आरोप लगाया गया है कि युवराज ने इंस्टाग्राम लाइव पर एक साथी खिलाड़ी के बारे में बात करते हुए आपत्तिजनक जाति का जिक्र किया।

Related Articles