पूर्व प्रधान ने मनरेगा में 18 लाख से अधिक का किया भ्रष्टाचार,जाँच अधिकारियों ने रिकवरी का दिया आदेश

हरदोई

जिले के हरपालपुर विकास खंड के ग्राम पंचायत सिरसा में मनरेगा के तहत जमकर भ्रष्टाचार, वित्तीय वर्ष 2015 -20 के दौरान ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी की मिलीभगत से जमकर भ्रष्टाचार किया गया, शिकायतकर्ता के आरोप पर जाँच अधिकारी सहायक अभियंता जिला ग्राम्य विकास अभिकरण हरदोई, उपायुक्त स्वत: रोजगार हरदोई ने गांव में जाँच कर रिपोर्ट सौंपी है, जिसमें 03 तालाबों पर 09 बार कार्य दर्शाकर 18 लाख से अधिक का फर्जी भुगतान किया गया

जबकि 05 वर्ष में 01 तालाब पर एक बार कार्य किया जा सकता है, लेकिन मनरेगा के तहत भ्रष्टाचार कर प्रधान, सेक्रेटरी व रोजगार सेवक ने काम के इतर 18 लाख से अधिक का फर्जीवाड़ा किया है, जिस पर जाँच अधिकारी ने 18,32,270 के रिकवरी का आदेश दिया है, मनरेगा में पूर्व प्रधान द्वारा किया गया भ्रष्टाचार इस समय सुर्खियों में है, मनरेगा के तहत ये 18 लाख से अधिक का घोटाला कोई नई बात नहीं है, मनरेगा में ऐसे फर्जीवाड़े आये दिन नजर आते है, लेकिन उच्चाधिकारियों के कार्रवाई और रिकवरी के आदेश के बाद भी भ्रष्टाचारियों के हौंसले बुलंद है।

Related Articles