पूर्व विधायक अजय राय ने कहा, मुख्तार अंसारी से मेरी जान का खतरा

मुख्तार अंसारी के खिलाफ गवाह के रूप में उपस्थित होंगे इस संदर्भ में उन्होंने पहले ही 6 फरवरी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सूचित कर दिया था। कि वह अंसारी के खिलाफ प्रयागराज अदालत में गवाही देने वाले हैं।

लखनऊ: कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय ने अपनी जान का खतरा बताते हुए उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को पत्र लिखकर पंजाब जेल में बंद माफिया डॉन और बसपा विधायक मुख्तार अंसारी से बचाव को लेकर अपने लिए सुरक्षा की मांग की है। उन्होंने ने पत्र लिख कर मुख्तार अंसारी से अपनी जान का खतरा बताया है।

बतादें कि कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय ने अपने पत्र में कहा है कि वह अपने भाई अवधेश राय की हत्या के मामले में मुख्तार अंसारी के खिलाफ गवाह के रूप में उपस्थित होंगे इस संदर्भ में उन्होंने पहले ही 6 फरवरी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सूचित कर दिया था। कि वह अंसारी के खिलाफ प्रयागराज अदालत में गवाही देने वाले हैं। राय ने अपने पत्र में कहा है कि उनकी सुरक्षा कवर वापस ले लिया गया है और शस्त्र लाइसेंस भी रद्द कर दिया गया है। इस पूर्व विधायक ने कहा कि मुख्यमंत्री ने मेरे पत्र पर ध्यान नहीं दिया। जबकि 10% निर्धारित शुल्क पर मुझे दिए गए सुरक्षाकर्मियों को वापस भी ले लिया गया था।

अजय राय के भाई की हत्या साल 1991 में उनके आवास पर गोली मारकर की गई थी इस मामले में अजय राय बाहुबली मुख्तार अंसारी के खिलाफ शिकायतकर्ता और गवाह दोनों है। हालांकि उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनावों में मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल का समर्थन प्राप्त किया था। इससे पहले मुख्तार अंसारी के खिलाफ भाजपा विधायक और कृष्णानंद राय की विधवा अलका राय ने भी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार मुख्तार को बचा रही है। मुख्तार अंसारी इस वक्त पंजाब की रोपड़ जेल में बंद हैं।

यह भी पढ़े: Corona Positive: Aamir Khan को हुआ कोरोना, होम क्वारंटीन में हैं बॉलीवुड के ‘Hit Machine’

Related Articles