पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खकान ने चुनाव की पारदर्शिता पर उठाए सवाल

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी ने 25 जुलाई को होने वाले चुनाव की पारदर्शिता पर रविवार को सवाल उठाए हैं। समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, इस्लामाबाद के बाहरी इलाके भारा काहू में अब्बासी (59) ने कहा, “मुझे चुनाव की पारदर्शिता और निष्पक्षता को लेकर संदेह है।”

अब्बासी अगस्त 2017 से जून 2018 तक प्रधानमंत्री रहे थे।

उन्होंने कहा, “पाकिस्तान में गैर-लोकतांत्रिक शासन का इतिहास रहा है और अतीत में चुनाव में हस्तक्षेप आम बात थी। पिछले दो चुनाव अपेक्षाकृत हस्तक्षेप मुक्त थे और हम उम्मीद कर रहे थे कि इस बार यह एक बेहतर प्रक्रिया होगी, लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा नहीं है।”

अब्बासी अपने पूर्ववर्ती नवाज शरीफ के बाद सत्ता में आए थे, जिन्हें अपने बेटे द्वारा संचालित कंपनी से होने वाली आय की घोषणा न करने का दोषी पाए जाने के बाद पद के अयोग्य घोषित कर दिया गया था।

वहीं, शुक्रवार को एक भ्रष्टाचार-रोधी अदालत ने लंदन में चार लग्जरी अपार्टमेंट खरीदने के लिए प्रयुक्त धन के स्रोत का खुलासा करने में विफल होने पर शरीफ को 10 साल जेल की सजा सुनाई है।

Related Articles