महान नेत्री है पूर्व प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी, दुनिया ने माना लोहा: कांग्रेस

उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने विजय दिवस के मौके पर कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के कुशल राजनीतिक नेतृत्व में भारतीय सेना ने अदम्य साहस और वीरता का परिचय देते हुये पाकिस्तान को घुटनो पर ला दिया और पूरी दुनिया को अपनी ताकत का लोहा मनवाया।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने विजय दिवस के मौके पर कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के कुशल राजनीतिक नेतृत्व में भारतीय सेना ने अदम्य साहस और वीरता का परिचय देते हुये पाकिस्तान को घुटनो पर ला दिया और पूरी दुनिया को अपनी ताकत का लोहा मनवाया।

विजय दिवस के अवसर पर कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में एक भव्य समारोह का आयोजन किया गया जिसमें 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में शामिल रहे वीर सैनिकों का अंगवस्त्र एवं फूल-मालाओं से सम्मान किया गया।

इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा “ यह गौरव का क्षण है जब हम उन महान सैनिकों का सम्मान कर रहे है जिनके अदम्य साहस, पराक्रम से हमें पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने और उसको विभाजित करके एक नये देश (बंगलादेश) के निर्माण का गौरव प्राप्त हुआ। ऐसा हमारी महान नेत्री पूर्व प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी के कुशल नेतृत्व, कूटनीतिक दक्षता और वैचारिक दृढ़ता के चलते संभव हो सका।”

ये भी पढ़ें : लखनऊ चिड़ियाघर से दुःखद खबर, नहीं रही वृद्ध बाघिन इप्शिता 

इन्दिरा गांधी ने साहसिक निर्णय से सेना का मनोबल बढ़ाया

उन्होने कहा कि इन्दिरा गांधी ने साहसिक निर्णय से सेना का मनोबल बढ़ाया और देश को यह गौरवशाली क्षण मिला जिसमें पाकिस्तान के 93 हजार सैनिकों को भारतीय सेना के सम्मुख आत्मसमर्पण करना पड़ा। यह भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए अनोखी घटना है और सबसे गौरवपूर्ण घटना है।

ये भी पढ़ें : 25 हजार का इनामी बदमाश चल रहा था फरार, आज लगा पुलिस के हाथ 

16 दिसम्बर का दिन पूरी दुनिया में हमारे लिए गौरव का दिन

पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि 15 अगस्त 1947 हमारे देशवासियों के लिए गौरव और सम्मान का दिन था लेकिन आपके अदम्य साहस और पराक्रम के चलते 16 दिसम्बर 1971 का दिन पूरी दुनिया में हमारे लिए गौरव और सम्मान का दिन बन गया। कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा ‘मोना’ ने कहा “ हमें अपने गौरवमयी परम्परा और गौरवमयी नेतृत्व, आप सैनिकों के अदम्य साहस और पराक्रम पर गर्व है।”

Related Articles