नजरबंदी के विरोध में पूर्व केंद्रीय मंत्री आमरण अनशन पर

यात्रा में हिस्सा लेने से रोकने के लिए पुलिस प्रशासन ने यहां कांग्रेसी नेताओं को दो दिन से उन्हीं के घरों में नजरबंद किया हुआ है।

झांसी, कांग्रेस की गाय बचाओ,किसान बचाओ यात्राओं में शामिल हो रहे कांग्रेसी नेताओं को नजरबंदी के विरोध में वीरांगना नगरी झांसी में पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने रविवार से आमरण अनशन शुरू कर दिया।

यात्रा में हिस्सा लेने से रोकने के लिए पुलिस प्रशासन ने यहां कांग्रेसी नेताओं को दो दिन से उन्हीं के घरों में नजरबंद किया हुआ है। नेताओं को कहीं बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है इस स्थिति से आजिज आकर आज प्रदीप जैन अपने सहयोगियों के साथ घर पर ही आमरण अनशन पर बैठ गये । इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जमकर कोसा। उन्होंने गायों के हित में शुरू की गयी इस जंग में शामिल होने से रोकने की मुख्यमंत्री की नीति पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि इस तरह के तानाशाही रवैये के खिलाफ उनकी लड़ाई बदस्तूर जारी रहेगी।

उन्होंने कहा कि गौमाता की सेवा के लिए जा रहे कांग्रेसियों को घरों पर नजर बंद किया जा रहा है, आखिर ये कहां की नीति है। योगी जी उन्हें गौसेवा नहीं करने दे रहे। इस बेवजह की नजरबंदी से आहत होकर पहले तो वह आत्मदाह करना चाहते थे,लेकिन उन्हें लगा कि यह बुजदिली होगी। सात दिनों तक हमारी गाय बचाओ किसान बचाओ यात्रा है लेकिन ये लोग ऐसे हमें जाने नहीं देंगे। इसके चलते वह अपने ही घर पर आमरण अनशन पर बैठ गए। उन्होंने कहा कि अब अन्न जल ग्रहण नहीं किया जाएगा। उन्होंने केन्द्र व प्रदेश सरकार को लुटेरा बता डाला।

 बीजेपी सबकुछ लूट चुकी,अब मंडिया भी लूटना चाहती

उन्होंने कहा कि इस सरकार ने सबकुछ लूट लिया केवल मंडियां और बची थी,उनको भी लूट लेना चाहते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एनकाउंटर स्पेशलिस्ट की संज्ञा भी दे डाली लेकिन यूपी पुलिस की जमकर तारीफ भी की। यूपी पुलिस 24 घंटे काम में लगी है,उसका दोष नहीं है। पुलिस तो रहमदिल है पर योगी जी एनकाउंटर स्पेशलिस्ट हैं। उन्हें व्यंग कसते हुए कहा कि यूपी में जीप पलट जाती है। किसी को भी भागा हुआ दिखा दिया जाता है, कुछ भी हो सकता है।

इसे भी पढ़े: ICC ने किया Decade Awards का ऐलान,इस दशक की वेस्ट टीमों में धोनी और कोहली का जलवा

उन्होंने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि कल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू गायब हो गए थे,हो सकता है कि प्रदेश अध्यक्ष को काला पानी भेज दिया हो। जिले के सभी कांग्रेसी नेताओं के घर पर पुलिस ही पुलिस नजर आई। सभी को नजर बंद कर दिया गया। कोई भी नेता को घर से बाहर जाने की इजाजत पुलिस ने नहीं दी।

इस मामले में पुलिस अधीक्षक ने बताया कि कोविड-19 के चलते धारा 144 लगी है। इसी के चलते किसी को कोई यात्रा या रैली निकालने की अनुमति नहीं है।

Related Articles

Back to top button