जिला जेल से कूदकर चार कैदी फरार

0

उरई। जिला कारागार से चार खूंखार कैदी चाहरदीवारी फांद कर भाग गए। कैदियों के भागने से पूरे जेल व पुलिस प्रशासन में हंगामा हो गया। पुलिस व प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए और मामले की जांच शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि ये चारों कैदी दीवार पर चादर की रस्सी बनाकर बाहर की ओर भागे हैं। घटना की जानकारी पाते ही मौके पर आलाधिकारी पहुंच गए हैं।

orai2

भागने वाले कैदियों में दिबियापुर थाना क्षेत्र स्थित ग्राम भुगनापुर निवासीकैदी जशवंत अपहरण के मामले में देल में बंद था। दूसरा कैदी बृजमोहन उर्फ़ कल्लू लूट बलात्कार हत्या का आरोपी था जो काफी समय से जेल में था।

तीसरा कैदी ध्यानचंद्र उर्फ़ ध्यानू था । यह भी लूट, बलात्कार और हत्या के मामले में जेल में बंद था। भागने वाला चौथा कैदी मुन्ना उर्फ़ सुरेश झांसी अपहरण, बलात्कार जैसी संगीन धाराओं के चलते जेल में बंद था। चारों शातिर अपराधी है। इनमें से मुन्ना उर्फ सुरेश को अदालत सजा सुना चुकी है। शेष कैदियों के मामले फिलहाल अदालत में विचाराधीन है।

पुलिस के अनुसार बीते रोज रात में सभी कैदियों की गणना कर उन्हें बैरक में बंद कर दिया गया। आज सुबह जब गणना दोबारा हुई तो चार कैदी कम निकले। सघनता से जांच की गई तो उक्त चारों के नाम सामने आए, क्योंकि वे वहां नहीं थे। पहले तो उनकी तलाश जेल परिसर में की गई, मगर जब कोई जानकारी नहीं लगी तो इसके बारे में अधिकारियों को बताया गया। कैदियों के जेल से भागने की घटना की जानकारी लगते ही जेल, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों में हडक़ंप मच गया। तत्काल पुलिस व प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए और जेल अधीक्षक के साथ मिलकर घटना की जांच शुरू कर दी।

orai1

पुलिस सूत्रों के अनुसार काफी ऊंची जेल की दीवार के दूसरी ओर एक चादर लटकी पाई गई। इसके अलावा अन्य कैदियों की चादरें भी बैरक से गायब मिली। इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि उक्त चारों कैदी चादरों की रस्सी बनाकर उसके सहारे जेल की चाहरदीवारी फांदने में सफल हो गए और सारी सुरक्षा व्यवस्था को धता बताकर  भाग गए। उधर, रात में डयूटी पर तैनात जेल अधिकारियों व पुलिस कर्मियों से भी पूछताछ की जा रही है। साथ ही उरई व आसपास के सभी जनपदों को एलर्ट कर दिया गया है। भागे हुए कैदियों के घरों व रिश्तेदारों के यहां एवं अन्य संभावित स्थानों पर भी पुलिस टीमों को दबिश के लिए भेजा जा रहा है। उधर, अधिकारियों का कहना है कि कैदियों के भागने की घटना के बाद जेल प्रशासन के कई कर्मचारियों व अधिकारियों पर प्रशासनिक कार्रवाई होना तय है।

loading...
शेयर करें