शेयर बाजार में FPI का नवंबर में अधिक निवेश, इस महीने रिकॉर्ड निवेश की उम्मीद

भारतीय शेयर बाजार में विदेशी निवेशकों ने नवंबर के महीने में काफी रुझान दिख रहा है, इस महीने की शुरुआत में ही अधिक निवेश किये है।

नई दिल्ली: भारतीय शेयर बाजार में विदेशी निवेशकों ने नवंबर के महीने में काफी रुझान दिख रहा है, इस महीने की शुरुआत में ही अधिक निवेश किये है। आगे भी भारतीय कंपनियों में विदेशी फंडों का अच्छा निवेश दिखेगा, क्योंकि एमएससीआई सूचकांकों पर कई भारतीय कंपनियां शामिल हुई हैं। एफपीआई यानी Foreign Portfolio Investors का नवंबर में शेयर बाजार में निवेश सबसे अधिक रहेगा, अभी तक इस महीने में एफपीआई 28,795 करोड़ रुपये का निवेश कर चुके हैं और अनुमान है कि महीने के आखिर तक उनकी ओर से और 30 हजार करोड़ रुपये का निवेश हो सकता है।

ये भी पढ़े : भाजपा ने बिहार में बेईमानी और यूपी में धोखे से जीता चुनाव: अखिलेश यादव

एफपीआई ने इससे पहले अगस्त महीने में भारतीय शेयर बाजार में 47,727 करोड़ रुपये का निवेश किया था, जो एक रिकॉर्ड है। अगर नवंबर में अतिरिक्त 30 हजार करोड़ रुपये का निवेश होता है तो यह एक महीने में होने वाला अब तक का सबसे अधिक विदेशी निवेश होगा। इससे पहले मार्च, 2019 में 42,668 रुपये के निवेश हुआ था जबकि मार्च 2017 में 33,782 करोड़ रुपये का निवेश हुआ था। गौरतलब है कि एमएमसीआई में विदेशी स्वामित्व सीमा की नई व्यवस्था लागू हो रही है, जो लंब समय से लंबित थी।

ये भी पढ़े : ट्रंप हुए नाकामयाब, चुनाव में वोट चोरी या गड़बड़ी के आरोप को अधिकारियों ने किया खारिज

नई व्यवस्था अब लागू हो रही है

एमएमसीआई में विदेशी स्वामित्व सीमा जो लंबे समय से रुकी हुई थी वो नई व्यवस्था अब लागू हो रही है, इस ग्लोबल इंडेक्स सर्वि कंपनी ने अपनी छमाही समीक्षा के दौरान 12 भारतीय शेयरों को अपने स्टैंडर्ड इंडेक्स में शामिल किया और दो शेयरों को बाहर किया है। ये बदलाव 30 नवंबर से लागू होगा। इस बदलाव के बाद एसएमसीआई स्टैंडर्ड इंडेक्स में भारतीय शेयरों की संख्या 86 से 96 तक पहुंच गई है।

 

Related Articles

Back to top button