कोरोना के लिए लगी बंदिशों से घबराकर FPI ने इस महीने मार्केट से निकाले 7,622 करोड़

पुणे : कोरोना वायरस के कहर का असर अब शेयर बाजार में भी नज़र आने लगा है। कोरोना के लिए लगाई गई पाबंदिओं के दरमियान फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (FPI) ने अपने पैसे निकलना शुरू कर दिए हैं। इस महीने की बात करें तो अबतक इन्वेस्टर ने तकरीबन 7600 करोड़ से ज़्यादा रुपए बाजार से निकाल लिए हैं।

FPI ने डेब्ट सेक्टर में किया पैसा इन्वेस्ट

हाल ही में जारी डिपॉजिटिरी डेटा के मुताबिक, विदेशी इन्वेस्टर्स ने इक्विटी बाजार से 8,674 करोड़ रुपये निकाले हैं, लेकिन डेट (debt) सेगमेंट में 1,052 करोड़ रुपये का निवेश भी किया है। डेटा के मुताबिक पहली से 23 अप्रैल के बीच विदेशी इन्वेस्टर्स ने कुल 7,622 करोड़ रुपये बाजार से निकाले हैं।

पिछले रिकार्ड्स पर नज़र डालें तो पता चलेगा की FPI ने मार्च महीने में 17,304 करोड़ रुपये, फरवरी महीने में 23,663 करोड़ रुपये और जनवरी महीने में 14,649 करोड़ रुपये इन्वेस्ट किए थे। मॉर्निंग स्टार के हिमांशु श्रीवास्तव ने इस मसले में कहा कि विदेशी इन्वेस्टर्स लगातार पिछले पांच हफ्तो से इक्विटी मार्केट में बिकवाली कर रहे है। हाल ही में शुरू हुई दूसरी लहर के मद्देनज़र सरकरों ने कई बंदिशें लगाई हैं। इसी वजह से इन्वस्टर्स ने अपना पैसा निकलना शुरू कर दिया है।

इसके अलावा श्रीवास्तव ने भी कहा कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर ज़्यादा गंभीर है। अभी अर्थव्यवस्था को इससे कितना नुकसान हुआ है, इसका आकलन नहीं किया गया है। लेकिन निश्चित रूप से इस से अर्थव्यवस्था की रिकवरी की उम्मीदें फीकी हो गईं हैं।

यह भी पढ़ें : कोरोना ने बरपाया कहर,पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र में हुईं हैं रिकॉर्ड death

Related Articles

Back to top button