ऐसे दूर कर सकते हैं आप किसी भी तरह का डर

चीन। लोगों में किसी भी प्रकार के डर को काबू करने के लिए चीनी वैज्ञानिकों ने नई तकनीक खोजी है। उन्‍होंने न्यूरॉन स्विच का पता लगाया है। शोधकर्ताओं ने चूहे में दो ऐसे न्यूरॉन खोजे हैं जो जन्मजात डर को बढ़ा या घटा सकते हैं।

1

इससे डर से जुड़ी बीमारियों के इलाज की दिशा में बड़ी कामयाबी मिल सकती है। किसी जीव में ऊंचाई या कीड़े आदि के प्रति एक जन्मजात डर होता है जो उसे खतरों से बचाता है। लेकिन अगर ऐसा डर सीमा से ज्यादा हो जाए तो व्यग्रता या कई दिमागी बीमारियों की वजह बन जाता है।

चाइना अकेडमी ऑफ साइंसेज के शोधकर्ता डुआन शुमिन ने कहा कि डर के पीछे के न्यूरॉन को समझना इससे जुड़ी हुई बीमारियों के इलाज में कारगर हो सकता है। शोधकर्ताओं ने पाया कि चूहे में डर सोमैटोस्टेटिन पॉजिटिव न्यूरॉन और पर्वाल्ब्यूमिन पॉजिटिव न्यूरॉन से संबद्ध होता है। ये डर के लिए एक स्विच की तरह काम करते हैं। इसके बारे में दावा है कि यह लोगों के लिए बहुत उपयोगी साबित होगा।

अंधेरे का डर ऐसे कर सकते हैं दूर 
एक अन्‍य रिसर्च के मुताबिक अगर आपको अंधेरे से डर लगता है तो आप कुछ बातों पर ध्‍यान देकर इस डर को दूर कर सकते हैं-

आखिर क्या है आपकी परेशानी का सबब

गौर करें कि अंधेरे में आपको आखिर कौन सी बात सबसे अधिक परेशान करती है। क्या आपको रात के समय अंधेरे में सोते वक्त बाहर की आवाजों से डर लगता है या फिर अंधेरे में हॉरर फिल्मों की कहानियां आंखों के सामने घूमती हैं। दरअसल, जब आप अंधेरे में होते हैं और आपकी दृष्टि काम नहीं करती तब आपका मस्तिष्क अधिक सक्रिय हो जाता है और कान अधिक सजग। आप सबसे पहले उस बात पर गौर करें कि अंधेरे के दौरान आपकी इंद्रिया किस चीज को लेकर अधिक सजग रहती हैं।

तार्किक बनें
अब जब आप यह समझ सकते हैं कि कौन सी बार रह-रहकर अंधेरे में आपको अधिक प्रभावित करती है तो वहम के बजाय तथ्य को तवज्जो दें। आपको पता है कि आप जो सोच रहे हैं या जो आभास आपको हो रहे हैं वह आपके मस्तिष्क की सक्रियता के अलावा कुछ भी नहीं हैं तो इनको गंभीरता से लेने की कोई जरूरत ही नहीं महसूस होगी।

ध्यान बांटें
बच्चों में भी यह समस्या अधिक होती है। ऐसी परिस्थिति में आप अपना या अपने बच्चों का ध्यान बांटने की पूरी कोशिश करें। सोचें कि पूरे दिन में आपके साथ सबसे सुंदर क्या घटा या फिर जिस खयाल से आपको सबसे ज्यादा खुशी महसूस होती है उसके बारे में सोचें। इसीतरह बच्चों को सोने के पहले कहानी सुनाएं या उनसे कविताएं सुनें जिससे लाइट बंद होने पर वे चैन से सो सकें।

डर को बदलें फन में
अपने डर पर जीत के लिए उसे मस्ती में बदल दें। हॉरर फिल्म का भूत अगर आपको अंधेरे में सतारा है तो उसका डरावना रूप न सोचकर उसे मजेदार तरीके से देखें। कल्पना करें कि वह भूत आपके सामने किसी मजेदार गाने पर डांस कर रहा है। इससे मन में छिपा वह डर जो अंधेरे में आपके सामने आता है, छूमंतर हो जाएगा।

मन के भावों को कहना सीखें
अंधेरे में आपके मन में जो भी खयाल आएं, उनसे परेशान होने या डरने के बजाय अपने दोस्तों व परिवारजनों से उनके बारे में बात करें। इससे आपका मन तो हल्का होगा ही, साथ ही आपको अंधेरे में अकेलापन भी कम महसूस होगा

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button