Free trade : क्या इस समिट से सुलझेगा पिछले आठ साल से अटका मसला ?

नई दिल्ली : जानकारों की माने तो भारत और यूरोपियन यूनियन के बीच साल 2013 से अटके फ्री ट्रेड एग्रीमेंट पर बातचीत अगले महीने से शुरू हो सकती है। फाइनेंस मिनिस्टर ने मंगलवार को दिए अपने बयान में देश को मुखातिब करते हुए कहा कि अगले महीने भारत और यूरोपियन यूनियन  के बीच होने जा रही समिट के दौरान ट्रेड समझौते पर फॉर्मल बातचीत फिर शुरू होने जा रही है ।

2013 से अटका है Free trade एग्रीमेंट

निर्मला सीतारमण ने मीडिया को दिए अपने बयान में कहा कि इस समिट से दोनों पक्षों के बीच रिश्तों को और मजबूत बनाने में मदद मिलेगी। आपकी जानकारी के लिए बता दें  कि आईटी सेक्टर के लिए डेटा सिक्योरिटी सहित कई अहम मसलों पर डिसेंट को दूर करने में नाकाम रहने के कारण भारत और 287 देशों के ग्रुप यूरोपियन यूनियन के बीच Free trade समझौते पर बातचीत मई 2013 से अटकी पड़ी है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें की भारत और यूरोपियन यूनियन के बीच फ्री ट्रेड एग्रीमेंट के लिए बातचीत जून 2007 में शुरू हुई थी। पुर्तगाल के फॉरेन मिनिस्टर अगस्तो सैंतोस सिल्वा के साथ हुई बायलैटरल मीटिंग के दौरान निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत और यूरोपियन यूनियन के बीच 8 मई को पुर्तगाल में समिट  के दौरान ट्रेड और इन्वेस्टमेंट एग्रीमेंट्स पर फॉर्मल बातचीत फिर से शुरू होना पुर्तगाल की अगुवाई में यूरोपियन यूनियन काउंसिल की अनूठी सफलता है। मीटिंग के दौरान फाइनेंस मिनिस्टर सीतारमण ने कहा कि सरकार के इस कदम से दोनों देशों के बीच रहे ऐतिहासिक संबंध को 21वीं सदी की आधुनिक भागीदारी में बदलने में मदद मिली है।

यह भी पढ़ें : Privatization : 14 अप्रैल को लग सकती है इन बैंकों के नाम पर मुहर

Related Articles

Back to top button