मित्रता दिवस: मित्र के गुजर जाने के बाद दोस्तो ने निभाई दोस्ती, परिवार के लिए…

गोड्डा: आज मित्रता दिवस (Friendship Day) है और आज के दिन सभी लोग दोस्तो (Friends) के साथ जश्न मनाते, सभी दोस्त दोस्ती निभाने का वादा करते है लेकिन झारखंड के गोड्डा में दाेस्ताें (Friends) ने दाेस्ती की मिसाल पेश की है जो बहुत कम देखने को मिलती है। गोड्डा जिले में डेढ़ साल पहले बचपन के एक दोस्त वीरेंद्र कुमार की सड़क हादसे में मौत हो गई थी। जब इस दुखद घटना की खबर दोस्तो को लगी तो एक-एक कर 40 दाेस्त एकत्रित हुए और 7 लाख जोड़कर अपने मृतक दोस्त का घर बनवा दिया।

वीरेन्द्र एक फाेटाेग्राफर का काम करता था और 22 दिसंबर 2019 को शहर के कारगिल चाैक पर हाइवा के धक्के से माैत हाे गई थी। मृतक वीरेंद्र कुमार की एक बूढ़ी मां किरण देवी, पत्नी ऐश्वर्या और दो बच्चें है। वीरेंद्र के चले जाने के बाद परिवार पर पहाड़ टूट पड़ा तभी इन 40 दोस्त देवदूत बनकर सामने आए। परिवार को रहने खाने में दिक्कत न हो इसके लिए दोस्त मिलकर 15 हजार रुपये प्रत्येक माह भेजते हैं।

Friends ने घर बनावकर किया गृह प्रवेश

मृतक वीरेंद्र के घर का निर्माण हाल ही में हुआ और सावन के पहले दिन गृहप्रवेश करना था, पर पूजा में पुरुष सदस्य काैन बैठे, इसको लेकर वीरेंद्र की मां किरण देवी चिंतित थी तब दोस्तों ने फैसला किया कि वीरेंद्र का दोस्त कौस्तुभ पूजा पर बैठेगा। इस तरह काैस्तुभ ने गृह प्रवेश की पूजा की, इस पूजा में परिवार के परिचिताें काे आमंत्रित किया और आयाेजन में किसी तरह की कमी नहीं छोड़ी। वीरेंद्र के परिवार को किसी तरह की परेशानी न हो, इसलिए दाेस्त हमेशा हाल-चाल लेते रहते हैं।

ये है दोस्त

लाल बहादुर, फरहान खान, मालिक सिन्हा, सुमन कुमार, कौस्तुभ कुमार, केडी, तन्नु, पवन कुमार, दिवाकर कुमार, राेशन कुमार, रघु कुमार, दिव्य प्रकाश, राहुल कुमार, ये वीरेंद्र के बचपन के दोस्त हैं, जिन्हाेंने उसके परिवार की जिम्मेदारी अपने ऊपर ले ली है।

Related Articles