GAIL घर-घर पहुंचाएगी गैस, अगले 5 साल में करेगी 1.05 लाख करोड़ रुपये का निवेश

नई दिल्‍ली: GAIL India Ltd के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्‍टर मनोज जैन ने सोमवार को कहा कि अगले पांच वर्षों में पाइपलाइन के विस्‍तार, सिटी गैस वितरण नेटवर्क बनाने और पेट्रोकेमिकल उत्‍पादन क्षमता बढ़ाने के लिए कंपनी 1.05 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगी। उन्‍होंने कहा कि गैस पाइपलाइन के जरिये देश के पूर्व, पूर्वोत्‍तर और दक्षिण भारत के उपभोक्‍ताओं तक ईंधन पहुंचाने की योजना है। सरकार भी देश के एनर्जी बास्‍केट में प्राकृतिक गैस की हिस्‍सेदारी 6.2 फीसद से बढ़ाकर 15 फीसद करने की दिशा में काम कर रही है।

जैन ने कहा कि पाइपलाइन के लिए 45,000 करोड़ रुपये से 50,000 करोड़ रुपये, पेट्रोकेमिकल क्षमता विस्‍तार के लिए 10,000 करोड़ रुपये और सिटी गैस वितरण कारोबार के लिए 40,000 करोड़ रुपये के पूंजीगत खर्च की योजना बनाई गई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विजन गैस आधारित अर्थव्‍यवस्‍था बनाना है ताकि अपनी ऊर्जा जरूरतों के लिए प्रदूषण फैलाने वाले ईंधन पर निर्भरता घटे। GAIL प्रधानमंत्री मोदी के विजन के अनुरूप ही इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर तैयार करने पर जोर दे रही है।

भारत अभी प्रतिदिन लगभग 160 मिलियन स्‍टैंडर्ड क्‍यूबिक मीटर्स गैस की खपत करता है और ऊर्जा क्षेत्र में इसकी हिस्‍सेदारी 15 फीसद होकर 600 mmcmd होने वाली है। GAIL इसी लक्ष्‍य को प्राप्‍त करने के मदद के लिए इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर तैयार कर रही है।

वर्तमान में GAIL 12,160 किलोमीटर गैस पाइपलाइन नेटवर्क का परिचालन करती है और देश में बिकने वाली सभी प्राकृतिक गैसों में से दो-तिहाई का विपणन करती है। जैन ने कहा कि GAIL अगले पांच वर्षों में पाइपलाइन में लगभग 7,000 किमी की बढ़ोत्‍तरी होगी।

Related Articles