गाजीपुर बॉर्डर पर दिखी गांधीगिरी, कांटो की जगह पर राकेश टिकैत ने लगाए फूल

नई दिल्ली: कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के चल रहे आंदोलन को लेकर सिंघु, टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur border) पर नाकेबंदी करके कीलें लगाई गई थी, जिससे की दिल्ली में कोई भी आंदोलनकारी प्रवेश न कर सके। दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को किले निकाल ली थी। वहीं दिल्ली पुलिस द्वारा गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur border) पर नाकेबंदी और कीलबंदी करने के जवाब में राकेश टिकैत ने वहां पर मिट्टी डालकर फूल की बगियां लगाई।

गाजीपुर बॉर्डर पर किले लगवाने के बाद दिल्ली पुलिस चर्चा में आई थी। वहीं इसके बाद अब राकेश टिकैत वहां पर फूल लगाने के बाद चर्चा में आ गए। जहां पर कील लगी थी वहां पर राकेश टिकैत मीडिया के सामने मिट्टी के डंफर और फावड़ा लेकर फूल लगाने के लिए पहुंच गए। सरकार किसानों को परेशान करने में लगी हुई है तो वहीं इसके जवाब में किसान गांधीगिरी दिखा रहे है। राकेश टिकैत ने कहा, केंद्र सरकार से कहना चाहता हूं तुम कांटे बोगे तो हम फूल बोएंगे हम किसान है खेतो में अनाज उगाते है काटे नहीं बोते।

ये भी पढ़ें : नौकरी चाहिए तो यहा आइये, आरबीआई (RBI) को कहेंगे धन्यवाद

किसान नेता किसानों को आराम देकर अपने आंदोलन को मजबूत करने में लगे हुए है गाजीपुर बार्डर पर शुक्रवार दोपहर को किसान नेता ने चक्काजाम करने की रणनीति बनाई। दोपहर बाद किसान नेता बलबीर सिंह राजोवाल और राकेश टिकैत के बीच चली एक घंटे की बैठक के बाद जब राकेश टिकैत नेयूपी और उत्तराखंड में चक्का जाम नहीं करने का ऐलान किया है।

ये भी पढ़ें : किसान करेंगे चक्का जाम तो दिल्ली पुलिस करें कड़े इंतजाम: अमित शाह

Related Articles

Back to top button