बच्चे को जन्म देकर भागी महिला, नहीं रखना चाहती साथ, वजह कर देगी दंग

0

भवाली। यहां एक गैंगरेप पीड़िता ने एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बच्चे को जन्म दिया। बच्चे को जन्म देने के बाद महिला ने स्वास्थ्य केंद्र से भागने की कोशिश की। भागने का कारन पूछे जाने पर महिला ने बच्चे को अपनाने से इनकार बताया। महिला लोकलाज के डर से ऐसा करना चाह रही है। स्वास्थ्य केंद्र के स्टाफ ने महिला काफी समझाया कि वह अपने फैसले पर विचार करे। स्टाफ के दबाव में महिला वहां रुकी रही।

गैंगरेप पीड़िता

बता दें महिला परिवार पालने के लिए किच्छा स्थित एक दवा फैक्ट्री में काम करती है। फैक्ट्री से लौटते वक्त एक दिन उसके साथ दो लोगों ने सामूहिक दुराचार किया। बदनामी के डर से उसने पुलिस को कुछ नहीं बताया। अब इसी बदनामी से बचने के लिए वह नवजात को साथ नहीं ले जा सकती।

वहीं, डॉक्टरों का कहना है कि 48 घंटे तक जच्चा-बच्चा उनकी देखरेख में रहेगा। इसके बाद ही अगली कार्रवाई की जा सकेगी।

खबरों के मुताबिक़ किच्छा निवासी 36 वर्षीय महिला टीबी की रोगी है। वह इलाज कराने रविवार को यहां सैनिटोरियम आई थी। यहां पहुंचने से पहले ही उसके पेट में दर्द होने लगा। उसे देखकर स्थानीय लोगों ने पुलिस को बुलाया।

पुलिस की मदद से महिला को सीएचसी ले जाया गया। जहां उसने स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया। लेकिन, उसने इसे अपनाने से इनकार कर दिया। महिला ने बताया कि 14 वर्ष पहले उसके पति की मौत हो गई थी। उसके दो बड़े बच्चे हैं। बेटी की उम्र 17 वर्ष और बेटा 14 वर्ष का है।

loading...
शेयर करें