गौतम गंभीर ने कहा, “45 साल से गांधीनगर में पिता का बिजनेस तो मैं बाहरी कैसे”

खेल के मैदान में गेंदबाजों की नींद उड़ाने वाले पूर्व भारतीय बल्लेबाज गौतम गंभीर अब राजनीति में विरोधी नेताओं की मुश्किलें बढ़ाने वाले हैं. पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रत्याशी गौतम गंभीर जीत हासिल करने के लिए अपने क्षेत्र में जमकर प्रचार कर रहे हैं. ‘आजतक’ से खास बातचीत करते हुए गंभीर ने कहा कि वह ईस्ट दिल्ली को बेस्ट दिल्ली बनाएंगे. उन्होंने कहा कि मैं बाहरी कैंडिडेट नहीं हूं, मेरे पिताजी 45 साल से यहां के गांधीनगर में बिजनेस कर रहे हैं.

बता दें कि गंभीर नई दिल्ली लोकसभा क्षेत्र में रहते हैं और इसी पर विरोधी उनके बाहरी होने को लेकर निशाना साध रहे हैं. उन्होंने कहा कि मुझे मौका मिला है लोगों की सेवा करने का और मैं उसको बखूबी पूरा करूंगा. मैं अभी ज्यादा वादे नहीं कर रहा, मेरा काम ही बोलेगा. 2011 की विश्व विजेता टीम के सदस्य रहे गंभीर ने कहा कि पार्टी ने मुझे टिकट दिया है मैंने किसी का टिकट नहीं काटा है. सब लोग मिलकर काम कर रहे हैं. बता दें कि बीजेपी ने इस बार मौजूदा सांसद महेश गिरी का टिकट काटकर गौतम गंभीर को दिया है.

उन्होंने कहा कि क्रिकेट में सिर्फ बैटिंग करके जीत हासिल नहीं की जाती. इसके लिए फील्डिंग भी अच्छी होनी चाहिए. गेंदबाजी भी बढ़िया होनी चाहिए तभी जीत हासिल होती है. यानी सब का सहयोग जरूरी है.

नामांकन करते ही गौतम गंभीर बने ‘चौकीदार’

बता दें कि दिल्ली में इस बार लोकसभा चुनाव दिलचस्प हो गया है. यहां क्रिकेटर, बॉक्सर, अभिनेता और नेता मैदान में हैं. सभी अपना नामांकन कर चुके हैं और सभी उम्मीदवारों में पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर सबसे अमीर उम्मीदवार हैं. उनकी कुल संपत्ति 147 करोड़ रुपये है. साथ ही गौतम गंभीर ट्विटर पर ‘चौकीदार गौतम गंभीर’ बन गए हैं. करीब एक महीने पहले बीजेपी  में शामिल हुए गौतम गंभीर ने बुधवार को नामांकन करने के बाद अपने नाम में चौकीदार जोड़ा.

Related Articles