आस्ट्रेलिया से हारने पर गावस्कर ने किया भारतीय बल्लेबाजों का बचाव

नई दिल्ली: भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने टेस्ट क्रिकेट इतिहास के सबसे न्यूनतम 36 रन का स्कोर पर आउट हुई टीम इंडिया के बल्लेबाजों का बचाव किया है। वहीँ लीजेंड क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और पूर्व खिलाड़ी संजय मांजरेकर ने इस दिन-रात्रि टेस्ट में मिली करारी हार के बाद भारतीय बल्लेबाजी पर सवाल उठाए हैं।

भारतीय टीम का शर्मनाक प्रदर्शन

भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहली पारी में 53 रन की बढ़त हासिल की थी लेकिन दूसरी पारी में उसकी बल्लेबाजी ताश के पत्तों की तरफ बिखर गयी और वह अपने टेस्ट क्रिकेट इतिहास का सबसे न्यूनतम 36 रन का स्कोर बनाकर ऑल आउट हुई।

भारत ने अपने पिछले 42 रन के न्यूनतम स्कोर का रिकॉर्ड तोड़ा जो भारत ने 20 जून 1974 को लॉर्ड्स में इंग्लैंड के खिलाफ बनाया था। गावस्कर 42 रन बनाने वाली उस टीम का हिस्सा थे।

गावस्कर ने किया भारतीय टीम का बचाव

गावस्कर ने कहा, “किसी भी टीम के लिए न्यूनतम स्कोर खड़ा करना अच्छा नहीं होता। लेकिन इस गेंदबाजी आक्रमण के सामने कोई अन्य कोई भी टीम होती तो वह भी जल्द आउट हो जाती, हो सकता है वे 36 पर नहीं सिमटते और शायद 80-90 रन बना लेते। लेकिन जोश हेजलवुड और पैट कमिंस ने जिस तरह गेंदबाजी की वो बेहतरीन थी। ऐसी गेंदबाजी में भारतीय बल्लेबाजों को दोषी ठहराना सही नहीं होगा।”

सचिन ने ऑस्ट्रेलिया को दी जीत की बधाई

सचिन ने ट्वीट कर कहा, “जिस तरह भारत ने पहली पारी में बल्लेबाजी और गेंदबाजी की वह अच्छा था और उस वक्त टीम की स्थिति सही थी लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने तीसरे दिन वापसी की। यही टेस्ट क्रिकेट की खूबसूरती है। ऑस्ट्रेलिया को इस जीत के लिए बधाई।”

मांजरेकर ने कहा, “भारत ने अपने पिछले तीन टेस्ट मैचों में 165, 191, 242, 124, 244 और 36 रन बनाए हैं। यह साफ तौर पर दर्शाता है कि भारत को अपने डिफेंसिव कौशल में सुधार लाने की जरुरत है।”

यह भी पढ़ें: बेनीवाल ने लोकसभा अध्यक्ष को भेजा त्यागपत्र, किसानों के समर्थन में दिल्ली करेंगे कूच 

Related Articles

Back to top button