गहलोत ने कहा- निःशुल्क वैक्सीन लगाने की स्पष्ट घोषणा करे केंद्र सरकार 

गहलोत ने सोमवार को यहां प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा बैठक में कहा कि महामारी और उसके गम्भीर आर्थिक प्रभावों के कारण बड़ी संख्या में आबादी वैक्सीन की कीमत चुकाने की स्थिति में नहीं है।

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि केन्द्र सरकार कोविड-19 के लिए सभी नागरिकों को निःशुल्क वैक्सीन लगाने की स्पष्ट घोषणा करे। गहलोत ने सोमवार को यहां प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा बैठक में कहा कि महामारी और उसके गम्भीर आर्थिक प्रभावों के कारण बड़ी संख्या में आबादी वैक्सीन की कीमत चुकाने की स्थिति में नहीं है। ऐसे में केन्द्र सरकार को देश के सभी नागरिकों के लिए वैक्सीन निःशुल्क उपलब्ध करानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य कार्मिकों और अति आवश्यक सेवाओं से जुड़े फ्रन्टलाइन वॉरियर्स को वैक्सीन के लिए प्राथमिकता देना उचित है। लेकिन अंततः किसी भी अन्य टीकाकरण अभियान की तरह कोविड वैक्सीन भी सभी को निःशुल्क मिलनी चाहिए।

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को प्रदेश में टीकाकरण के लिए जमीनी स्तर तक बेहतरीन प्रबंध करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 विश्वव्यापी महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए राजस्थान में की गई शुरूआती तैयारी के चलते प्रदेश मॉडल राज्य बना। अब तक के कोरोना प्रबंधन की तर्ज पर ही हमें वैक्सीनेशन पर फोकस कर एसी तैयारी करनी चाहिए कि वैक्सीन प्रबंधन में भी राजस्थान मॉडल बने।

रात्रिकालीन कफ्र्यू जारी रहेगा

गहलोत ने कहा कि नववर्ष के दृष्टिगत आगामी कुछ सप्ताहों के दौरान पूरे प्रदेश में भीड़ में इकट्ठा होने, सामूहिक आयोजनों और आतिशबाजी आदि पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। रात्रिकालीन कफ्र्यू जारी रहेगा तथा सड़कों और अन्य सार्वजनिक जगहों पर पुलिस की गश्त तथा कार्रवाई अधिक सख्त होगी।

ये भी पढ़ें : इस वर्ष यूपी के स्कूलों में नहीं मिलेगा शीतकालीन अवकाश, विभाग ने किया स्पष्ट

निःशुल्क मास्क वितरण जारी रहेगा

उन्होंने लोगों में संक्रमण से बचाव की जागरूकता के उदेश्य से स्वायत्त शासन विभाग को ‘कोविड-19 के विरूद्ध जन आंदोलन’ की अवधि 31 जनवरी तक बढ़ाने के निर्देश दिए। इस दौरान निःशुल्क मास्क वितरण जारी रहेगा। बैठक में बताया गया कि अभियान के तहत अब तक 1.36 करोड़ से अधिक मास्क बांटे गए हैं।

ये भी पढ़ें : बहराइच: कोचिंग से लौट रही छात्रा के चेहरे पर तेजाब से हमला

राजस्थान में कोरोना संक्रमित 95 प्रतिशत ठीक हुए

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के शासन सचिव सिद्धार्थ महाजन ने बैठक में बताया कि प्रदेश में कोविड-19 के संक्रमण की स्थिति नियंत्रित है तथा जयपुर, जोधपुर आदि बड़े शहरों सहित पूरे राज्य में संक्रमित व्यक्तियों की संख्या लगातार कम हो रही है। उन्होंने बताया कि बीते सप्ताह से विभिन्न अस्पतालों में कोरोना के गम्भीर रोगियों की संख्या भी घटी है तथा ऑक्सीजन सिलेण्डर की खपत भी लगातार कम हो रही है। राजस्थान में कोरोना संक्रमितों के ठीक होने की दर लगभग 95 प्रतिशत है और मृत्यु दर केवल 0.88 प्रतिशत ही है।

Related Articles