जर्मन कंपनी ‘वान वेलेक्स’ ने की ताज नगरी आगरा में ‘संयंत्र’ की स्थापना

जर्मन कंपनी ‘वान वेलेक्स’ ने की ताज नगरी आगरा में अपने 'संयंत्र'की स्थापना

लखनऊ: चीन को छोड़ कर ‘ताज नगरी आगरा‘ में अपने संयंत्र की स्थापना कर रही जर्मन कंपनी ‘वान वेलेक्स’ के फैसले का सम्मान करते हुये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ‘उत्तर प्रदेश का उद्यम प्रदेश के रूप में विकसित होने का यह प्रत्यक्ष प्रमाण है’।

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस

सीएम योगी ने ट्वीट किया “ आदरणीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश ‘उद्यम प्रदेश’ के रूप में विकसित हो रहा है। जर्मन कम्पनी का चीन के स्थान पर उत्तर प्रदेश में स्थापित होना, इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग व हमारी निवेश अनुकूल नीतियों का यह सुफल है।”

जर्मनी की फुटवियर कंपनी

बीते दिनों जर्मनी की फुटवियर कंपनी वॉन वेलेक्स ने चीन से अपना कारोबार समेट कर आगरा में नई यूनिट शुरू की है। उद्योग जगत ने इसे यूपी के लिये एक शुभ संकेत करार दिया है। देश के जानेमान महिंद्रा समूह के मुखिया आनंद महिंद्रा ने इसे बूंद-बूंद इक्कट्ठा होकर अच्छी बाढ़ के रूप में तब्दील होने का सूचक बताया।

निवेश और विकास की बाढ़

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट किया “ जर्मन कम्पनी का चीन से आगरा आना, ताजे पानी की छोटी-छोटी बूंदे हैं। धीरे-धीरे यह पतली धार का रूप लेगी और फिर एक तेज धार वाले विकास के रूप से होते हुए बाढ़ में परिवर्तित होगी। निवेश और विकास की इस ‘अच्छी बाढ़’ को ऐसे आने देना चाहिए। इन्वेस्ट इंडिया इस काम में उत्प्रेरक हो सकता है।”

जूता बनाने की दो यूनिट

गौरतलब है कि कोरोना वायरस महामारी के बीच जर्मनी की फुटवियर कंपनी वॉन वेलेक्स ने आगरा में अपनी ‘जूता बनाने की दो यूनिट’ शुरू की हैं। अभी तक कुल 2000 लोगों को इन यूनिट में रोजगार दिया गया है। वॉन वेलेक्स कंपनी अब यूपी में तीन परियोजनाओं में लगभग 300 करोड़ रुपए का निवेश करेगी।

50 लाख जोड़े जूते का उत्पादन

कंपनी का दावा है कि इससे 10 हजार लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा जबकि यूनिट्स सालाना 50 लाख जोड़े जूते का उत्पादन करेंगी। इन यूनिट की स्थापना एक्सपोर्ट प्रमोशन इंडस्ट्रियल पार्क आगरा में भारत के इआट्रिक इंडस्ट्रीज ग्रुप के साथ साझेदारी में की गई है। इन दोनों यूनिट में कुल 2,000 रोजगार के अवसर सृजित हुए हैं तथा 50 लाख जोड़ी जूतों की सलाना उत्पादन क्षमता है।

यूपी के लिए महत्वपूर्ण उपलब्धि

कोविड-19 के बाद के कालखंड में यूपी के लिए यह एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है, जिसमें मात्र पांच माह के अल्प समय में निवेश-प्रस्ताव क्रियान्वित होकर उत्पादन भी प्रारम्भ हो गया है। वॉन वेलेक्स द्वारा 10,000 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में जेवर (यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण) में दिसंबर तक एक नई उत्पादन इकाई स्थापित किए जाने की संभावना है, जबकि कोसी-कोटवान, मथुरा में 7.5 एकड़ में एक और विनिर्माण यूनिट प्रस्तावित है।

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस

योगी सरकार की निवेशोंमुखी नीतियों के चलते राज्य और संघ शासित प्रदेशों की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (ईओडीबी) रैंकिंग में इस बार उत्‍तर प्रदेश ने लंबी छलांग लगाई है। वह रैंकिंग में 10 पायदान उछलकर दूसरे नंबर पर पहुंच गया है। ऐसा करने में उसने महाराष्‍ट्र, गुजरात, तेलंगाना और राजस्‍थान जैसे कई प्रमुख राज्‍यों को पीछे छोड़ा है। इस रैंकिंग में यूपी अब केवल आंध्र प्रदेश से पीछे है। औद्योगिक जगत की जरूरत के अनुसार जरूरी बदलावों के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रतिबद्धता जगजाहिर है।

यह भी पढ़े:वी नारायणसामी का आरोप, बीजेपी की “वेल यात्रा” का मुख्य उद्देश्य सांप्रदायिक हिंसा पैदा करना

यह भी पढ़े:अफगानिस्तान के कंधार में बम विस्फोट, तीन पुलिसकर्मियों की मौत, दो घायल

Related Articles

Back to top button