चाहकर भी अनचाहे कॉल्स नहीं कर पाएंगे परेशान, नियमों में हुए बड़े फेरबदल

0

एक ओर मोबाइल आज के समय में एक बेहतरीन डिवाइस है, जिसके इस्तेमाल के कई फायदे हैं। वहीं दूसरी ओर ये लोगों के लिए परेशानी का सबब भी बन जाती है। कारण आप किसी मीटिंग में बैठें हो और फोन रिंग करना शुरू कर दें। ऐसे समय में ये फोन बहुत इरिटेट करता है। सबसे ज्यादा दिक्कत तब होती है, जब ड्राइव करते समय आपके फोन की बेल बजती है।

ये है Voda के छोटू पैक का बड़ा धमाका, प्लान देख…

अनचाही कॉल्स से छुटकारा

अब फोन रिंग करे तो उसे उठाना तो बनता ही है, वजह कोई जरूरी काल भी हो सकती है। पर झल्ल तब आती है, जब ये काल किसी कंपनी का होता है। यानी दूसरी भाषा में कहें तो प्रमोशनल काल।

आप भी यदि ऐसी काल्स से परेशान हैं तो आपके के लिए अच्छी खबर है। ट्राई ने नेट्वर्किंग कपनियों के नियमों में फेरबदल कर आपकी इस मुश्किल को दूर करने का काम किया है।

खबरों के मुताबिक़ ट्राई ने अब लोगों के पास ऐसे कॉल को कंट्रोल करने के लिए कई फिल्टर मुहैया कराए हैं। नई व्यवस्था 1 अक्टूबर 2018 से लागू हो जाएगी।

शेमारू एन्टरटेनमेंट ने इस्लामी एप ‘इबादत’ लांच किया

बता दें टेली मार्केटिंग करने वाली कंपनियों को इस दिशा में सिस्टम में जरूरी बदलाव करने का निर्देश दे दिए गए हैं।

इन पर अमल न करने से न सिर्फ कंपनी पर भारी जुर्माना लगेगा, बल्कि अपराधिक केस भी दर्ज किया जा सकता है। ट्राई की नई पहल के बाद उपभोक्ताओं को अनचाहे कॉल से बड़ी राहत मिल सकती है।

बता दें ट्राई ने ऐसे अनचाही कॉमर्शियल कॉल पर बंदिश के लिए 2010 में गाइडलाइंस बनाया था। इसके बाद इसमें दो बार संशोधन किए गए। लेकिन हालात में खास सुधार नहीं आया।

अब ट्राई ने इस मामले में बड़ा बदलाव किया है। ट्राई ने लोगों को ऐसे कॉल या मेसेज में फिल्टर लगाने के कई विकल्प दिए हैं।

नई व्यवस्था के तहत ग्राहक महज एक मेसेज भेज कर अनचाही कॉल या मेसेज के खिलाफ अपनी शिकायत दर्ज करा सकेंगे।

एप्पल ने ‘टेलीग्राम’ एप के ios पर अपडेट की दी मंजूरी

उन्हें कंपनी को शिकायत के मद्देनजर कार्रवाई का पूरा ब्योरा देना होगा। साथ ही सभी कमर्शल संदेश या मेसेज देने वालों को अपनी एजेंसी के डिटेल ग्राहक को बताना होगा ताकि जरूरत पड़ने पर वे उनकी शिकायत कर सकेंगे।

ये हैं नए नियम…

उपभोक्ता 1909 पर कॉल या मैसेज कर अपने हिसाब से प्रमोशन कॉल के विकल्पों को चुन सकेंगे।

किसी भी कैटेगरी को नहीं चुनने या सभी कैटेगरी को चुनने का विकल्प भी होगा। जिन विकल्प को उन्होंने नहीं चुना है, अगर उससे कॉल आती हैं तो कंपनी को इसका मुआवजा देना होगा।

उपभोक्ता हफ्ते का कोई दिन और खास दो घंटे का वक्त तय कर सकते हैं जिस दौरान उन्हें ऐसी कॉल रिसीव करनी है। इसी तय दिन और समय पर उन्हें प्रमोशन कॉल आएगी। वे साल में सभी छुट्टी के दिन का भी विकल्प चुन सकते हैं।

प्रमोशन की कैटिंगरी तय की गई है। ये हैं- बैंक, कार्ड, बीमा या दूसरे वित्तीय प्रोडक्ट, हेल्थ, एजुकेशन, ट्रैवल-टूरिज्म, रियल इस्टेट, खान-पान, कंज्यूमर प्रोडक्ट और ऑटोमोबाइल, आईटी, मनोरजंन। उपभोक्ता इनमें से चुनाव कर सकते हैं कि किसमें प्रमोशन कॉल चाहिए।

loading...
शेयर करें