गिलानी के घर पर होगी 35 ए के मुद्दे पर चर्चा

0

 श्रीनगर:  कश्मीर में एनआईए के लगातार 21 जगहों पर ताबतोड़ छापों के बाद सैयद अली शाह गिलानी ने मजलिस-ए-शूरा की बैठक बुलाने का फैसला किया। जिसमे कश्मीर की आजादी पसंद सभी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को उपस्थित रहने के लिए कहा गया है।

कौन कौन शामिल

ऑल पार्टी हुर्रियत कांफ्रेंस के कट्टरपंथी गुट की मजलिस-ए-शूरा की एक अहम बैठक बुधवार को होने जा रही है। यह बैठक कश्मीर में अलगाववादियों पर एनआइए के छापों के बाद कट्टरपंथी सैयद अली शाह गिलानी ने स्वयं बुलाई है। इस बैठक में 35 ए के मुद्दे पर चर्चा होगी, और  आगे की रणनीति तय की जाएगी। गिलानी ने सभी वरिष्ठ नेताओं को बैठक में शामिल होने के लिए विशेष निर्देश जारी किया है।

इसमें अलगाववादी संगठनों के कई नेता शामिल हो सकते हैं । बता दें कि इस तरह कि बैठक में ही सभी प्रमुख नीतिगत मामलों पर चर्चा के बाद फैसला लिया जाता है। कट्टरपंथी हुर्रियत की मजलिस-ए-शूरा की यह बैठक लगभग चार से पांच माह बाद होने जा रही है।

 क्यों होगी बैठक 

इस बैठक में कश्मीर के मौजूदा हालात और एनआइए द्वारा कश्मीर की आजादी के समर्थक नेताओं को प्रताडि़त किए जाने से पैदा हालात पर विचार विमर्श कर आगे की रणनीति को तय किया जाएगा।

हुर्रियत के एक वरिष्ठ नेता के अनुसार रविवार को अस्पताल से छुट्टी के बाद घर पहुंचे गिलानी ने सोमवार को ही मजलिस-ए-शूरा की बैठक बुलाने का फैसला किया था। इस बैठक में आज़ादी पसंद सभी पार्टियों के वरिष्ठ नेताओं को शामिल होने के लिए कहा गया था।

 

 

 

 

 

loading...
शेयर करें