रूम मेट से परेशान हो कर छात्रा ने की आत्महत्या

राजस्थान: बीकानेर के सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के नर्सिंग कॉलेज में पढ़ने वाली छात्रा आयुष ने आत्महत्या कर ली। आयुष की आत्महत्या करने के बाद हॉस्टल मैनेजमेंट पर ही सवाल खड़े हो रहे हैं। आयुष और उसकी रूम मेट चंदा प्रजापत के बीच बहुत समय से विवाद चल रहा था। कॉलेज प्रशासन ने दोनों के बीच सुलह करवाने की बजाए उन्हें जबरन साथ रहने के लिए मजबूर किया। इससे परेशान होकर आयुष ने आत्महत्या कर लिया।

आयुष के पिता ने करवाई FIR दर्ज़

आयुष के पिता मुकेश ने चंदा प्रजापत और कोटपुतली निवासी नाहर सिंह आरोप लगाया है कि दोनों ने मिलकर आयुष को इतना परेशान किया कि उसे आत्महत्या करनी पड़ी। वो पिछले लंबे समय से इन दोनों से परेशान रहती थी। इसी कारण उसने फोन करके पहले बताया कि वोआत्महत्या कर रही है।

इसके बाद उसने हॉस्टल के कमरे में फांसी लगा ली । पुलिस ने आत्महत्या के लिए प्रेरित करने के आरोप में चंदा और नाहर सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। अब उसकी मौत को लेकर जांच कमेटी बनाई गयी है। पीबीएम अस्पताल के अधीक्षक डॉ. परमेंद्र सिरोही ने बताया कि जांच कमेटी में डॉ. रेखा आचार्य, डॉ.संजय बुरी, एल.ए. रहमान और नर्सिंग अधीक्षक को जिम्मेदारी दी गई है।

आखिर क्या है पूरा मामला ?

नाहर सिंह रावत को आयुष के पिता मुकेश ही एक बार बीकानेर लेकर आए थे। वो किराए की कार चलाता है। नाहर ने इस दौरान चंदा और आयुष दोनों के नंबर ले लिए। वहीं, चंदा को लेकर शिकायत थी कि वो रात तक तेज लाइट लगाकर पढ़ती है, जिससे आयुष को दिक्कत होती है। आयुष को माइग्रेन की शिकायत थी। दोनों के बीच विवाद बढ़ता गया और कई तरह की शिकायतें होती रही।

यह भी पढ़ें: T20 World Cup 2021: आज ऑस्ट्रेलिया के सामने होगी श्रीलंका की टीम

 

Related Articles