Global hunger Index: 107 देशों की फेहरिस्त में 94वें स्थान पर भारत, 14 फीसदी आबादी कुपोषण का शिकार

नई दिल्लीः वैश्विक भूख सूचकांक 2020 की सूची जारी कर दी गई है। इस लिस्ट में भारत गंभीर श्रेणी के साथ 94वें स्थान पर है। वहीं देश की 14 फीसदी जनसंख्या कुपोषण का शिकार है।

गौरतलब है कि अमेरिका स्थित अंतर्राष्ट्रीय खाद्य नीति अनुसंधान संस्थान (IFPRI- International Food Policy Research Institute) और जर्मनी स्थित वेल्टहुंगरहिल्फ़ा (Welthungerhilfe) द्वारा प्रकाशित इस सूचकांक में भारत की स्थित बेहद खराब है।

इस रिपोर्ट के अनुसार भारत में पांच साल से कम के बच्चों की मृत्यु दर 3.7 प्रतिशत है। इसके साथ ही देश में 37.4 फीसदी बच्चे कुपोषण का शिकार हैं, जिसके कारण उनका कद नहीं बढ़ पाया है। वहीं रिपोर्ट में पौष्टिक भोजन की कमी, मातृ शिक्षा का निम्न स्तर और गरीबी आदि को कुपोषण का कारण बताया गया है।

अंतर्राष्ट्रीय खाद्य नीति शोध संस्थान की वरिष्ठ शोधकर्ता पूर्णिमा मेनन के मुताबिक, ”भारत की रैंकिंग में सुधार के लिए उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्य प्रदेश जैसे बड़े राज्यों के प्रदर्शन में सुधार की जरूरत है। क्योंकि ये राज्य देश की आबादी में खासा योगदान देते हैं, जिसके कारण इन राज्यों के प्रदर्शन से राष्ट्रीय औसत सबसे ज्यादा प्रभावित होता है।”

वहीं इस सूचकांक में पड़ोसी देश नेपाल 73वें, बांग्लादेश 75वें, म्यामां 78वें, श्रीलंका 64 और पाकिस्तान 88वें स्थान के साथ गंभीर श्रेणी में है।

Related Articles