Goa Revolution Day 2021: राम मनोहर लोहिया ने पुर्तगालियों के खिलाफ दिया जोशीला संदेश, ऐसे मिली आजादी

गोवा में 18 जून को हर साल गोवा क्रांति दिवस के रूप में मनाया जाता है, क्योंकि राम मनोहर लोहिया ने गोवा के लोगों को पुर्तगालियों के खिलाफ आवाज उठाने के लिए प्रेरित किया था

पणजी: गोवा (GOA) में 18 जून को हर साल गोवा क्रांति दिवस (Goa Revolution Day) के रूप में मनाया जाता है। क्योंकि 18-06-1946 को डॉक्टर राम मनोहर लोहिया (Dr. Ram Manohar Lohia) ने गोवा के लोगों को पुर्तगालियों के खिलाफ आवाज उठाने के लिए प्रेरित किया था। 18 जून गोवा की आजादी की लड़ाई के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों से लिखा गया है।

18जून 1946 को डॉक्टर राम मनोहर लोहिया ने गोवा के लोगों को एकजुट होने और पुर्तगाली शासन के खिलाफ लड़ने का संदेश दिया था। 18 जून को हुई इस क्रांति के जोशीले भाषण ने आजादी की लड़ाई को मजबूत किया और आगे बढ़ाया।

शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित

गोवा क्रांति दिवस के मौके पर गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत (Pramod Sawant) और राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने पणजी में शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित की है।

गोवा भारत का सबसे छोटा और जनसंख्या के अनुसार चौथा सबसे छोटा राज्य है। पूरी दुनिया में गोवा अपने सुन्दर समुद्र के तटों के लिये जाना जाता है। गोवा पहले पुर्तगाल का एक उपनिवेश था। पुर्तगालियों ने गोवा पर लगभग 450 सालों तक शासन किया और 19 दिसंबर 1961 में यह भारतीय प्रशासन को सौंपा गया।

GOA शांतिप्रिय पर्यटकों और प्रकृति प्रेमियों को बहुत भाता है। गोवा एक छोटा-सा राज्य है। यहां छोटे-बड़े लगभग 40 समुद्री तट है। इनमें से कुछ समुद्र तट अंर्तराष्ट्रीय स्तर (International level) के हैं। इसी कारण गोवा की विश्व पर्यटन मानचित्र के पटल पर अपनी एक अलग पहचान है। गोवा में पर्यटकों की भीड़ सबसे अधिक गर्मियों के महीनें में होती है। जब यह भीड़ समाप्त हो जाती है तब यहां शुरू होता है ऐसे सैलानियों के आने का सिलसिला जो यहां मानसून का लुत्‍फ उठाना चाहते हैं।

 

 

बीच की लंबी कतार

गोवा के मनभावन बीच की लंबी कतार में पणजी से 16 किलोमीटर दूर कलंगुट बीच, उसके पास बागा बीच, पणजी बीच के निकट मीरामार बीच, जुआरी नदी के मुहाने पर दोनापाउला बीच स्थित है। वहीं इसकी दूसरी दिशा में कोलवा बीच ऐसे ही सागरतटों में से है जहां मानसून के वक्त पर्यटक जरूर आना चाहेंगे। यही नहीं, अगर मौसम साथ दे तो बागाटोर बीच, अंजुना बीच, सिंकेरियन बीच, पालोलेम बीच जैसे अन्य सुंदर सागर तट भी देखे जा सकते हैं। गोवा के पवित्र मंदिर जिनसे कामाक्षी, सप्तकेटेश्‍वर, शांतादुर्ग, महालसा नारायणी, परनेम का भगवती मंदिर और महालक्ष्मी आदि दर्शनीय है। गोवा में किराए पर बाइक और स्कूटी  दी जाती है। जिसे चलाकर पर्यटक गोवा का लुफ्त उठाते हैं।

यह भी पढ़ेबूढ़े भारत में नयी जवानी थी, मणिकर्णिका Rani Lakshmi Bai, ऐसे बनी झांसी की रानी

Related Articles