महिला जूनियर एशिया कप में स्वर्ण पदक हासिल करना लक्ष्यः खुशबू

2019 का सत्र सफल होने के बाद भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम 2020 में प्रतिस्पर्धी हॉकी खेलने के अवसर से कोरोना की मार के कारण वंचित रह गई।

बेंगलुरु: भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम की गोलकीपर खुशबू ने कहा ​​है कि उनका मुख्य उद्देश्य देश के लिए अगले वर्ष एएचएफ महिला जूनियर एशिया कप में स्वर्ण पदक जीतना है।

2019 का सत्र सफल होने के बाद भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम 2020 में प्रतिस्पर्धी हॉकी खेलने के अवसर से कोरोना की मार के कारण वंचित रह गई। खुशबू ने कहा, “इसमें कोई शक नहीं है कि हमें इस वर्ष दुनिया भर की सर्वश्रेष्ठ टीमों के साथ प्रतिस्पर्धा करने का अवसर प्रदान होता लेकिन परिस्थिति कुछ ऐसी हो गई है कि हमें फिलहाल खुद का ख्याल रखना होगा।”

उन्होंने कहा, “हमारा पूरा ध्यान अगले वर्ष होने वाले एएचएफ महिला जूनियर एशिया कप पर है जहां हमारे पास अपने खेल से ध्यान आकर्षित कर एफआईएच जूनियर महिला विश्वकप का टिकट हासिल करने का अवसर होगा। हमारा एकमात्र लक्ष्य एशिया कप जीतना और फिर विश्वकप में खेलना है।”

भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम की अपनी यात्रा से अवगत कराते हुए गोलकीपर ने कहा कि देश के लिए खेलना हमेशा से उनका सपना रहा है। 18 वर्षीय खुशबू तीसरे युवा ओलंपिक खेलों की रजत पदक विजेता रही हैं।

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि 2018 युवा ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने के दौरान जो मैंने अनुभव किया वह हमेशा मेरे साथ रहेगा। मैं उन खूबसूरत लम्हों को याद करती हूं और यह मुझे सीनियर टीम में जगह बनाने तथा अपने देश के लिए ओलंपिक खेलों में भी हिस्सा लेने के लिए प्रेरित करता है।”

यह भी पढ़े: किसान आंदोलन पर नीतीश बोले- बिहार में समस्या नहीं, तेजी से धान खरीद रही सरकार

Related Articles