Patym यूजर्स के लिए खुशखबरी! शुरू की ये सर्विस, अब सीधे खाते में आएंगे सरकारी स्कीम के पैसे

नई दिल्ली. पेटीएम पेमेंट्स बैंक (Paytm Payments Bank) ने वित्त वर्ष 20 में 30 करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया. यह इस सेक्टर की पहली कंपनी है जो मुनाफा कमाई है. वित्त वर्ष 19 में 19 करोड़ रुपए के मुकाबले मुनाफा 55 फीसदी अधिक है. Paytm Payments Bank ने कहा कि उसने छोटे शहरों में अपने ग्राहक की संख्या में बढ़ोतरी की है जिसके परिणामस्वरूप वित्त वर्ष में 21,000 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है. बता दें कि पिछले साल चीन के अलीबाबा की समर्थन वाली डिजिटल पेमेंट कंपनी पेटीएम (Paytm) ने अपने पेमेंट्स बैंक की शुरुआत की थी.

DBT की सुविधा शुरू
बैंक ने कहा कि अब उसके पास भारत के हर जिले में एक डेबिट कार्डधारक है और हर महीने 45 लाख से अधिक डेबिट कार्ड से लेनदेन होता है. हाल ही में, पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने डायरेक्ट बेनिफिट्स ट्रांसफर (DBT) सुविधा शुरू की है जो ग्राहकों को सीधे उनके बचत खातों में 400 से अधिक सरकारी सब्सिडी का लाभ प्राप्त करने की अनुमति देता है.

घर पर होगी कैश की डिलीवरी

पिछले महीने पेटीएम पेमेंट्स बैंक (Paytm Payments Bank) ने सीनियर सिटीजन और दिव्यांगों के लिए घर पर कैश देने की सुविधा शुरू की है जिससे उन्हें कोरोना की इस महामारी के दौरान घर से बाहर न निकलना पड़े. इस नई सेवा की मदद से वे अपने पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर विद्ड्रॉल के लिए रिक्वेस्ट भेज सकते हैं और उसके मुताबिक राशि को उनके घर पर डिलीवर कर दिया जाएगा. आप न्यूनतम 1000 रुपये और अधिकतम 5000 रुपये की राशि की डिलीवरी ले सकते हैं.

चेकबुक की भी मिलती है सुविधा
पेटीएम पेमेंट्स बैंक जमा पूंजी पर 4 फीसदी ब्याज और कैशबैक देती है. पेमेंट्स बैंक के जरिए ऑनलाइन लेनदेन पर कोई फीस नहीं लगती है और खाते में मिनिमम बैलेंस की भी कोई शर्त नहीं है. बैंक चेकबुक (Cheque book) की भी सुविधा देती है. हालांकि ऑनलाइन लेनदेन अधिक कुशल हैं. कुछ संस्थाओं को सीधे भुगतान के लिए ऑन-बोर्डिंग ग्राहकों के लिए रद्द किए गए चेक की आवश्यकता होती है.

4.6 लाख करोड़ रुपए का हुआ ट्रांजैक्शन
Paytm Payments Bank ने कहा कि उसने 4.6 लाख करोड़ रुपए के 485 करोड़ लेनदेन की सुविधा दी है. घरेलू मनी ट्रांसफर लगभग 29,000 करोड़ रुपये का है. चालू और बचत खाता (Current and Saving Accoutns) की संख्या बढ़कर 5.8 करोड़ से ज्यादा हो गई है, जिससे बैंक में बचत खाता में जमा पिछले साल की तुलना में दोगुना होकर 1,000 करोड़ रुपये होगा गया.

Related Articles