पेंशनधारकों के लिए बड़ी खुशखबरी, EPFO ने जेपीपी जमा कराने की बढ़ाई अवधि

भविष्‍य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने पेंशनधारकों को राहत दी है। कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन-ईपीएफओ ने पेंशन धारकों के लिए जीवन प्रमाण-पत्र-जेपीपी जमा कराने की अवधि 28 फरवरी तक बढ़ा दी है।

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच केंद्र सरकार आम लोगों को राहत देने के लिए एक के बाद एक कदम उठा रही है। वरिष्‍ठ नागरिकों को हो रही समस्याओं को ध्यान में रखते हुए कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने पेंशनधारकों को राहत दी है। कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन-ईपीएफओ ने पेंशन धारकों के लिए जीवन प्रमाण-पत्र-जेपीपी जमा कराने की अवधि 28 फरवरी तक बढ़ा दी है। इससे ईपीएफओ से जुड़े लगभग 35 लाख पेंशन धारकों को फायदा होगा।

केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने शनिवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि यह फैसला कोविड-19 महामारी और बुजुर्गों को इससे प्रभावित होने की आशंका के मद्देनज़र किया गया है। पेंशनधारकों के लिए जारी होने वाला जीवन प्रमाणपत्र एक साल तक वैध माना जाता है। इसके बाद उन्‍हें फिर लाइफ सर्टिफिकेट जमा कराना होता है।

ये भी पढ़े : असंतुलित बाइक कार से टकराई, हादसे में पति-पत्नी व बच्ची की मौत, बेटा घायल

फिलहाल पेंशन धारक 30 नवम्‍बर तक कभी भी जीवन प्रमाण-पत्र जमा करा सकते हैं जो जारी होने की तिथि से एक वर्ष तक मान्‍य रहेगा। जीवन प्रमाण-पत्र तीन लाख 65 हजार सामान्‍य सेवा केंद्रों एक लाख 36 हजार बैंक शाखाओं, डाकघरों और एक लाख 90 हजार डाकियों तथा ग्रामीण डाक सेवकों के ज़रिए जमा कराया जा सकता है।

Related Articles